सर्दियों में ठंडी जगहों पर जाना पसंद कर रहे लोग

0
940

लीज्ड एवं फ्रेंचाइज्ड होटलों, होम एवं लिविंग स्पेस चेन ओयो ने बुधवार को कहा कि पिछले साल की समान अवधि की तुलना में इस साल ठंडी जगहों पर जाने वाले अकेले यात्रियों की बुकिंग्स में 133 फीसदी की वृद्धि हुई है।

ओयो ट्रैवल इंडेक्स 2018 से पता चला है कि इस सूची में शिमला जाने वाले यात्रियों की संख्या सबसे अधिक है, इसके बाद शिलोंग, मसूरी, ऊटी, डलहौजी के लिए भी बड़ी संख्या में यात्रियों ने बुकिंग की है, सर्दियों में इस सीजन कुल 104 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है।

इस सीजन सोलो ट्रैवल यानी अकेले घूमने वाले यात्रियों की संख्या कई कारणों से बढ़ी है, जैसे लोग अकेले ही नए स्थानों की रोमांचक यात्रा का लुत्फ उठाना चाहते हैं या व्यस्त दिनचर्या और काम से बाहर आकर कुछ देर अपने लिए कुछ समय बिताना चाहते हैं। वहीं दूसरी ओर एक बटन क्लिक करके वे बड़ी आसानी से किसी भी दूर-दराज के इलाके में अपने लिए होटल बुक कर सकते हैं।

ठंडे स्थानों के अलावा लोग बीच यानी समुद्रतटों जैसे गोवा, पुरी, पॉन्डिचेरी, पोर्ट-ब्लेयर, अलप्पुझा और दीघा जैसे स्थानों के लिए भी बुकिंग कर रहे हैं। सर्दियों के इस सीजन में 2017 की तुलना में बुकिंग्स में 66 फीसदी की वृद्धि हुई है।

रोचक बात तो यह है कि विवाहित जोड़े और परिवार भी छुट्टियां मनाने के लिए समुद्रतट के बजाए ठंडी जगहों पर जाना पसंद कर रहे हैं। विश्लेषण में पता चला है कि ठंडी जगहों पर जाने वाले विवाहित जोड़ों की संख्या में 99 फीसदी और परिवारों की संख्या में 106 फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि बीच यानी समुद्रतटों पर जाने वाले विवाहित जोड़ों की संख्या में 71 फीसदी तथा परिवारों की संख्या में 63 फीसदी की वृद्धि हुई है।

ओयो होटल्स एंड होम्स वाईस प्रेजीडेन्ट (कन्वर्जन्स) बुरहनुद्दीन पिथावाला ने कहा, “टेक्नोलॉजी के चलते आज अकेले यात्रियों, विवाहित जोड़ों एवं परिवार के साथ छुट्टियां मनाने वालों के लिए छुट्टी की योजना बनाना बेहद आसान हो गया है। वे अपने फोन से मिनटों में होटल बुकिंग कर सकते हैं। रोचक बात तो यह है कि छुट्टियों के इस सीजन में अकेले यात्रियों की संख्या सबसे ज्यादा है। ये रूझान साल दर साल तेजी से बढ़ रहे हैं। हम चाहते हैं कि सभी यात्री छुट्टियों का बेहतरीन अनुभव पा सकें।”

ओयो के विश्लेषण बताते हैं कि उत्तरी भारत में -दिल्ली, जयपुर, शिमला और उदयपुर छुट्टियों के लिए लोगों के सबसे पसंदीदा गंतव्य बने हुए हैं, वहीं दक्षिणी भारत में- हैदराबाद, बैंगलोर, पॉन्डिचेरी, कोच्चि, मैसूर और ऊटी के लिए लोग सबसे ज्यादा बुकिंग्स कर रहे हैं। ओयो की विभिन्न पेशकश जैसे ओयो होम्स, ओयो टाउनहाउस और ओयो टोटल हॉलीडेज इस साल यात्रियों के लिए पसंदीदा साबित हो रहे हैं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleसोने से पहले शरीर के इस अंग पर लगाएं वैसलीन, फायदा देखकर दंग रह जाएंगे आप
Next articleआपके बैंक खाते में 24 हजार रुपए भेजेगी सरकार, मात्र 84 रुपए खर्च करके भरें ये फार्म
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here