इस युवक को मस्जिद में “पादने” के अपराध में मिली मौत की सज़ा

0
1414
al wahabi
al wahabi

पाकिस्तान कई बार अपने विचित्र नियमों की वजह से दुनिया में हंसी का पात्र बन जाता है। ऐसा ही एक मामला इन दिनों मीडिया में छाया हुआ है। जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान में एक व्यक्ति को सिर्फ इसीलिए सजा—ए—मौत सुना दी गई क्योंकि उसने मस्जिद में ‘गैस’ छोड़ दी। असल में उस व्यक्ति को पेट की कोई बीमारी है और वह इस पर काबू नहीं रख पाया। जब यह मामला कोर्ट में पहुंचा तो जज ने उसे तत्काल मृत्युदंड सुना दिया। इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने इस विचित्र कानून पर चुटकी ली।

जरूर पढ़ें : इसरो की ये 13 सैटेलाइट्स करेंगी धरती और आकाश में दुश्मनों की निगरानी, इंडियन आर्मी की ताकत बढ़ी…

इस शख्स का नाम अल वहाबी है। इस्लामाबाद हेराल्ड में छपी एक खबर के अनुसार, उसे रमजान के दौरान मस्जिद में पेट की ‘गैस’ छोड़ने का दोषी पाया गया है। वहां की न्यायपालिका ने इसे आतंकवाद से भी बड़ा जुर्म माना है और अल वहाबी को सजा सुनाने में ज्यादा समय नहीं लगाया। वहां की कोर्ट के ‘विद्वान’ न्यायाधीश ने माना है कि अल वहाबी ने यह एक बहुत बड़ा अपराध किया है जिसके लिए उसे माफी नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि इससे दूसरे लोगों की इबादत में खलल पैदा हुआ। अत: ऐसे अपराधी को अल्लाह की मर्जी के मुताबिक सजा तो मिलनी ही चाहिए।

जरूर पढ़ें : सावधान! अगर जाना चाहते हैं अमरनाथ धाम तो आप भी हो सकते हैं आतंकियों के निशाने पर…

हालांकि न्यायाधीश महोदय ने अल वहाबी पर थोड़ी दया भी दिखाई है। उन्होंने कहा है कि सजा—ए—मौत का तरीका वह खुद चुन सकता है यानी उसे यह अधिकार दिया गया है कि चाहे तो अपनी गर्दन कटवाकर मर जाए या भीड़ द्वारा पत्थर मारकर मौत देने का तरीका चुन ले। इस मामले में उसकी इच्छा का सम्मान किया जाएगा। यही नहीं इस मामले में एक न्यायिक अधिकारी सैयद अनीस शाह ने पाकिस्तानी मीडिया को बताया कि इतने बड़े गुनाह के बदले मौत की सजा तो बहुत छोटी है। अपराधी को इससे भी ज्यादा बड़ी सजा दी जानी चाहिए थी।

जरूर पढ़ें : इस गांव के लोग दूल्हे को दहेज में आखिर क्यों देते हैं ऐसे 21 खतरनाक विषधारी जीव!…

गौरतलब है कि 33 साल के अल वहाबी का केस लड़ने के लिए कोई वकील तैयार नहीं हुआ। माना जा रहा है कि जो भी वकील उसका केस लड़ता, उसे आतंकवादी मौत के घाट उतार देते। अल वहाबी की दो बीवियां और सात बच्चे हैं। उसे पेट की गंभीर बीमारी है। इस विचित्र फैसले के बाद पूरी दुनिया में पाकिस्तान की काफी बदनामी हो रही है। लोगों ने ​कहा है कि पाकिस्तान एक मुल्क है या पागलखाना जो किसी बीमार शख्स को सिर्फ पेट की गैस छोड़ने के आरोप में ही मौत की सजा सुना देता है।

लेटेस्ट जानकारी पाएं हमारे FB पेज पे.
अभी LIKE करें – समाचार नामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here