पाकिस्तानी सेना नहीं बल्कि खुफिया एजेंसी हैं गुल बुखारी की अपहरणकर्ता, सोशल मीडिया निकाली भड़ास

0

जयपुर। पाकिस्तानी सेना और वहां की खुफिया एंजेसियों की हरकतों से लगभग पूरी दुनिया वाकिफ है। इन्होंने ना सिर्फ पाकिस्तान की सत्ता पर अप्रत्यक्ष कब्जा जमाकर रखा हुआ है बल्कि देश में खुलेआम अपने मंसूबों को अंजाम दे रहे हैं। इन सभी बातों के पीछे तर्क प्रस्तुत करती है हालिया घटना, जिसके तहत पाकिस्तानी सेना के नापाक मंसूबों का पदार्फाश करने वाली एक 52 वर्षीय महिला पत्रकार का अपहरण कर लिया जाता है।

जानकारी के लिए बता दें कि 52 वर्षीय गुल बुखारी पिछले रात करीब 11 बजे अपने टॉक शो के कारण वक्त टीवी के लिए रवाना हुईं थीं। इसी दौरान कुछ अज्ञात लोगों ने उन्हें लाहौर कैंट स्थित शेरपो पुल के निकटवर्ती इलाके से अपहरण कर लिया। इस घटना के बाद गुल बुखारी के परिजनों ने अपहरण का केस दर्ज करवाया। इस घटना की खबर पडते ही लोगों ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा उतारना शुरु किया।

इस घटना को लेकर एक कैब ड्राइवर ने पुलिस को बताया कि एक डबल केबिन गाड़ी से दो लोग उतरे और गुल बुखारी को अपनी गाडी में बैठने को कहा। ड्राइवर ने यह भी बताया कि महिला पत्रकार के इंकार करने पर उन्हें जबरन गाडी में बिठाया गया और गाडी को भगाकर ले गए। वहीं अपहरणकर्ताओं ने कैब ड्राइवर के प्रति कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाई। लेकिन अपहरण की सूचना मिलते ही लोगोंने पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसियों पर निशाना साधना शुरु कर दिया।

अपहरण के कुछ घटों में ही सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूटने लगा और वह खुफिया एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराने लगे। अपहरण कुछ समय बाद ही गुल बुखारी वापस लौट आईं, लेकिन उन्होंने इस घटना को लेकर कोई भी बयानबाजी करने से साफ इंकार कर दिया है। लेकिन कई लोगों ने स्पष्ट किया है कि पाकिस्तानी सेना की आलोचना करने के कारण गुल बुखारी का अपहरण पाकिस्तानी खुफिया एंजेसियों ने करवाया है।

वहीं स्थानीय पुलिस ने बताया कि हमारी टीम गुल बुखारी का बयान दर्ज करने के लिए उनके घर गई थी लेकिन उन्होंने इससे साफ इंकार कर दिया है। पुलिस अधिकारी का कहना कि उनकी टीम जल्द दोबारा उनका बयान दर्ज करने के लिए उनके घर जाएगी। हालांकि पाक सेना की आलोचना करने वाले पाकिस्तानी पत्राकों के साथ यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी खई पत्रकारों की संदिग्ध स्थिति में हत्याओं को अंदाम दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here