पाकिस्तानी चीफ जस्टिस का बड़ा बयान, कहा- ‘इस्तीफा मंजूर है लेकिन सैन्य शासन नहीं लाने दूंगा’

0
186

पाकिस्तानी चीफ जस्टिस मियां साकिब निसार ने आपातकालीन स्थिति के चलते देश में सैन्य शासन लागू करने की सभी अफवाहों और आशंकाओं को खारिज कर दिया है। गुरुवार को जारी बयान में चीफ जस्टिस ने कहा कि वह अपने पद से इस्तीफा दे देंगे लेकिन कभी सैन्य शासन लागू नहीं करेंगे। इतना ही नहीं, चीफ जस्टिस निसार ने आश्वासन दिलाया कि चुनावों में किसी भी प्रकार की देरी की इजाजत नहीं दी जाएगी।

Image result for A big statement of Pakistani Chief Justice on thursday

जानकारी के लिए बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की इमारत में एक ऑडिटोरियम के नाम में बदलाव करके दिवंगत मानवाधिकार कार्यकर्ता आस्मां जहांगीर नाम रखने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसी कार्यक्रम में आश्वासन देत हुए चीफ जस्टिस ने कहा कि ‘संविधान में किसी भी तरह के सैन्य शासन के लिए कोई जगह नहीं है।’

“अगर मैं सैन्य शासन को रोक नहीं पाऊंगा तो घर लौट जाऊंगा लेकिन ऐसे किसी भी कदम कभी समर्थन नहीं करूंगा। इसलिए जनता मुझ पर भरोसा करें।” – चीफ जस्टिस मियां साकिब निसार

Image result for A big statement of Pakistani Chief Justice, said Resignation is approved but I will not bring military rule

गौरतलब है कि पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक दिन पहले सैन्य शासन की संभावनाएं जताते हुए कहा कि “पाकिस्तान सैन्य शासन के कुचक्र में फंसता जा रहा है।” उन्होंने यह भी बताया कि उनकी पार्टी पाकिस्तानी आम चुनावों में किसी भी तरह की देरी को स्वीकार नहीं करेगी। बता दें कि पाकिस्तान में आम चुनाव आगामी जुलाई में होने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here