Padmini Ekadashi 2020: कब रखा जाएगा पद्मिनी एकादशी व्रत, जानिए तिथि, मुहूर्त और विधि

0

हिंदू धर्म में एकादशी तिथियों का विशेष महत्व होता हैं वही पद्मिनी एकादशी मलमास या अधिकमास में पड़ती हैं हिंदू धर्म शास्त्रों में इसे कमला एकादशी भी कहा जाता हैं अधिक मास 18 सितंबर से शुरू हो चुका हैं जो 16 अक्टूबर तक रहेगा। इसे पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता हैं इसलिए इस माह में पड़ने वाली एकादशी को पुरुषोत्तमी एकादशी के नाम से भी जानते हैं तो आज हम आपको पद्मिनी एकादशी व्रत की तिथि, मुहूर्त और विधि बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

पद्मिनी एकादशी का व्रत इस महीने 27 सितंबर दिन रविवार को रखा जाएगा। यह व्रत एकादशी तिथि में रखा जाता है जबकि व्रत का पारण द्वादशी तिथि के दिन हो रहा हैं।

जानिए मुहूर्त—
एकादशी तिथि आरंभ: 27 सितंबर, 6:12 बजे से
एकादशी तिथि समाप्त: 28 सितंबर, 08:00 बजे तक।
पद्मिनी एकादशी पारणा मुहूर्त: 06:12:41 से 08:36:09 तक
अवधि: 2 घंटे 23 मिनट

जानिए व्रत विधि—
आपको बता दें कि इस दिन सुबह उठकर स्नान आदि कर सूर्य देव को जल अर्पित करें। इसके बाद अपने पितरों का श्राद्ध करें। भगवान श्री विष्णु की पूजा करें। ब्राह्माण को फलाहार का भोजन करवाएं और उन्हें दक्षिणा दें। इस दिन इंदिरा एकादशी व्रत की कथा सुनें। एकादशी व्रत द्वादशी के दिन पारण मुहूर्त में खोलें।

इस दिन जगत के पालनहार भगवान श्री विष्णु को बहुत ही प्रिय होता हैं शास्त्रों में कहा गया है कि जो मनुष्य पद्मिनी एकादशी व्रत का पालन पूरे मन से करता हैं उसे श्री विष्णु लोक की प्राप्ति होती हैं इस व्रत को करने से जातक हर प्रकार की तप तपस्या, यज्ञ और व्रत आदि से मिलने वाले फल के समान फल को प्राप्त करता हैं ऐसा कहा जाता है कि सर्वप्रथम श्रीकृष्ण भगवान ने अर्जुन को पुरुषोत्तमी एकादशी व्रत की कथा सुनाकर इसके माहात्म्य से अवगत करवाया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here