रचनात्मक सिनेमा के लिए वरदान है ओटीटी प्लेटफार्म

0

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में ऐसे कई कलाकार, निर्देशक और फिल्मकार हैं जो अपनी रचनात्मक फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। उनकी फिल्मों को देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के दर्शक पसंद करते हैं। आज बसु चैटर्जी, सत्यजीत रे, श्रीकेश मुखर्जी, रितुपुर्णेा घोष ऐसे कई निर्देशक और फिल्मकार है जो ऐसी ही फिल्मों का निमार्ण किया करते थे। हालांकि आज की यंग जनरेशन में भी ऐसे कई कलाकार हैं जो ऐसी फिल्मों का निर्माण करते हैं। रचनात्मक ​फिल्मों को पसंद करने वाले दर्शकों का एक अलग वर्ग भी है। हालांकि ये अलग बात है कि ऐसी रचनात्मक फिल्मों को​ सिनेमाघरों में ज्यादा ना तो तवज्जों दी जाती है और ना ही ये फिल्मों बॉक्स आफिस पर कमाई कर पाती है। जिसकी वजह से शानदार अभिनय और कहानी के बावजूद राचनात्मक फिल्में पिस कर रह जाती हैं। लेकिन इन फिल्मों की कहानी और किरदार सीधे दर्शकों के दिल में उतरती हैं। अब उदाहरण के तौर पर निर्देशक और फिल्मकार रितुपुर्णेा घोष ने एक फिल्म रेनकोट बनाई थी। जिसकी कहानी बेहद सरल और आम थी लेकिन इस फिल्म को शायद ही ऐसा कोई होगा जिसने पसंद ना किया हो। फिल्म की कहानी से लेकर सिनेमेटोग्राफी, किरदार, कलाकार, अभिनय, निर्देशन और गीत आदि हर एक चीज दर्शकों को पसंद आई थी। फिल्म में मुख्य किरदार के तौर पर बॉलीवुड के दो दिग्गज नजर आए थे अजय देवगन और ऐश्वर्या राय बच्चन। फिल्म को दर्शकों की तरफ से बेशुमार प्यार मिला लेकिन ये कमाई के मामले में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की मसाला फिल्मों से बहुत पीछे छूट गई। अब सिनेमाघरों में ऐसी फिल्मों को ज्यादा तवज्जों नहीं मिलने से एक बात तो तय है कि उनके लिए ओटीटी प्लेटफार्म किसी वरदान से कम नहीं हैं। पहली फायद तो ये हो सकता है कि जब ऐसी फिल्मों को ओटीटी प्लेटफार्म पर रिलीज की जाएगी तो मेकर्स और प्रोड्यूसर को डील के तौर पर अच्छी आफर की जाएगी जो आम तौर पर सिनेमाघरों में नहीं होता है क्योंकि सिनेमाघरों के मालिकों को ये अच्छे से पता है कि सिनेमाघरों में मे लोग मसाला फिल्मों को देखने के लिए आते हैं। इसके अलावा स्टार्स को भी उनके अभिनय और काम की वजह से इंटरनेशनल लेवेल पर पहचान मिल सकती है। तो हो सकता है कि कोई विदेशी मेकर या डायरेक्टर उनके काम से प्रभावित होकर एक अच्छा आफर दें। वैसे भी हर किसी को कला की तलाश होती है। ऐसे में रचनात्मक सिनेमा के मेकर्स और स्टार्स के लिए ओटीटी प्लेटफार्म किसी वरदान से कम नहीं हैं।

ओटीटी प्लेटफार्म पर रिलीज फिल्मों से मेकर्स और स्टार्स को ही फायदा, ये है कारण

बॉलीवुड इंडस्ट्री से आई एक और बुरी खबर, कास्टिंग डायरेक्टर का हुआ निधन

भतीजी ने लगाया था नवाज के भाई पर यौन उत्पीड़न का आरोप, अब पेश की सफाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here