एक ऐसा चर्च जहाँ जाते ही इंसान की कॉप जाती है रुह

0
16

जयपुर। आपको अभी तक इस बात की जानकारी नहीं है कि इस दुनिया में एक ऐसा चर्च है,जहाँ जाते ही इंसान की रुह तक कॉप जाती है। जानकारी के लिये बता दें ये चर्च मरे हुए इंसानों की खोपड़ीयों से बना हुआ है। जी हां, ये बात बिल्कुल सत्य है। बता दें कि ये चेक रिपब्लिक में बना एक रोमन कैथोलिक चर्च ‘सेडलेक औसुएरी’ सबसे अलग चर्च है। इसको दुनिया का सबसे डरावना चर्च माना जाता है। बता दें इसे डरावना इसलिए कहा जाता है, क्‍योंकि इस चर्च की सजावट इंसानी शरीर की हड्डियों और खोपड़ियों से की गई है। जानकोरी के अनुसार इसे सजाने के लिए 70 हजार कंकालों का इस्तेमाल किया गया है।

आपको बता दें कि इस चर्च में इस्तेमाल की गई इंसानी कंकाल प्लेग से पीड़ितों और 15वीं शताब्दी के दौरान युद्धों में मारे गए लोगों के हैं। इस चर्च की सजावट के लिये इंसानी खोपड़ी से लेकर इंसानी उंगली तक का इस्तेमाल किया गया है। यहाँ इस चर्च में लगे झूमर भी हड्डियों से बने हैं। जहां कुछ लोगों को इस चर्च में आकर डर लगता है तो वहीं कुछ लोगों को यहां आकर शांति मिलती है।

 

चर्च को इस अनोखे रूप में सजाने के पीछे एक अनोखी कहानी बतायी जाती है। जानकारी के लिये बता दें कि 1278 ईं. में जेरुसलेम की पवित्र धरती से यहां मिट्टी लाई गई थी। यहाँ के लोगों की इच्छा थी कि मरने के बाद उन्हें पवित्र जगह ही दफनाया जाए। इसी कारण उन्हें इस चर्च में दफनाया गया और अब उनकी हड्डियों को इस जगह को सजाने में इस्तेमाल किया जाता है। आपको बता दें कि ये चर्च प्रसिद्ध हॉलीवुड फिल्म Pirates of the Caribbean के सेट जैसा दिखता है।

आपको बता दें कि चेक रिपब्लिक यूरोप महाद्वीप में स्थित एक देश है। इसकी उत्तर पूर्वी सीमा पर पोलैन्ड, पश्चिमी सीमा पर जर्मनी, दक्षिण में ऑस्ट्रिया और पूर्व में स्लोवाकिया है। प्राग को इसकी राजधानी कहा जाता है । यहां वैसे तो कई चर्च स्थित हैं, लेकिन रोमन कैथोलिक चर्च ‘सेडलेक औसुएरी’ अपनी खास सजावट की वजह से आकर्षण का क्रेंद बना है। जो आकर्षक होने के साथ-साथ बहुत डरावना भी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here