“योग के जरिए भगवान तक नहीं पहुंचा जा सकता”

0
866

जयपुर। अपने देश में पिछले कुछ सालों में योग को बहुत महत्व दिया गया है। योग की महत्ता इतनी है कि अब हर साल 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जाता है। योगों के बारे में लोगों के मन में अलग अलग धारनाएं भी हैं। जैसे कि प्राणायाम के बारे में मुस्लिम धर्म के ज़्यादातर लोगों का मानना है कि ये इस्लाम के नज़रिये से एक गुनाह है।

अब केरल की चर्च ने योग कि लेकर एक बड़ा बयान दिया है। केरल की एक चर्च सीरो-मालाबार चर्च  ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि योग का दिव्य अनुभवों से कोई लेना देना नहीं है और ना इससे भगवान से मिला जा सकता है। ये रिपोर्ट चर्च के बिशप  मार्स जोसेफ काल्लारंगट्टू ने तैयार किया है।

हालांकि रिपोर्ट में ज़रुर कहा गया है कि योग स्वास्थ्य और मेडिटेशन के लिए बहुत अच्छा है। लेकिन वापस से इस रिपोर्ट में यें भी कहा गया है कि योग ईसाई धर्म की मान्यताओं के खिलाफ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here