गुजरात में हुई हिंसा पर अब अल्पेश ठाकुर ‘सद्भावना उपवास’ पर बैठे

0
508

जयपुर। गुजरात में प्रवासियों के खिलाफ हिंसा पर लोगों के गुस्से का सामना करने वाले कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकुर ने आज अहमदाबाद में लोगों के बीच “शांति और सद्भाव” को बढ़ावा देने के लिए उपवास शुरू किया.

विधायक ने कहा, किसी ने प्रवासियों के खिलाफ कुछ कहा होगा लेकिन असली अपराधी वे हैं जिन्होंने इस मुद्दे पर राजनीति करी है.

प्रवासी समुदाय के सदस्य  विशेष रूप से उत्तर प्रदेश और बिहार के रहने वाले लोगों को इस महीने की शुरुआत में साबरकंठा जिले में 14 महीने की एक लड़की के साथ बलात्कार के आरोप में बिहार के मूल निवासी की गिरफ्तारी के बाद राज्य के कई हिस्सों में बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों के साथ हिंसा करी गई थी.

हमलों ने उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश के 60,000 से अधिक प्रवासियों का पलायन हुआ था.

रानीप इलाके में उनके निवास के पास ‘सद्भावना उपवास’ स्थल पर अपने संबोधन में ठाकुर ने कहा कि वह नफरत फैलाने में कभी भी शामिल नहीं थे.

“मैं घृणा फैलाने में बिल्कुल नहीं हूं.मैं उस तरह का व्यक्ति नहीं हूं. हम (ठाकुर समुदाय) दिलसे साफ़ है. यह संभव है कि किसी ने कुछ (प्रवासियों के खिलाफ) कहा हो, लेकिन हम किसी भी तरह की चिल्लाहट नहीं करते. हमें सभी को यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि गुजरात की छवि खराब नहीं हो पाई है, कोई भी प्रवासी नहीं है.”

आपको बता दे की गुजरात में एक 14 महीने की बच्ची के साथ रेप होने के बाद से हुए है, इस मामले में पुलिस ने बिहार से आए एक मजदुर को गिरफ्तार किया और इस बात के सामने आने के बाद से बिहार और उत्तर प्रदेश के मजदूरो को ढूंढ-ढूंढकर कर मारने का दौर शुरू हो गया. बताया जा रहा है की जो लोग मार रहे है वो गुजरात के ठाकुर है और मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो इसका नेतृत्व कर रहे है कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकुर. वो ही अल्पेश ठाकुर जो कभी गुजरात में गुजरातियों को नौकरी देने के लिए लड़ाई लड़ रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here