अब हुआ खुलासा – आखिर शव को रात में अकेला क्यों नहीं छोड़ा जाता है। यह है “खौफनाक” सच्चाई, जानिए

0
61

जयपुर, यह तो अटल सत्य है कि जिसने जन्म लिया है उसे एक दिन मरना जरूर है। इस लिए मृत्यु शब्द से किसी को भय नहीं होना चाहिए। दोस्तों हमने कई बार देखा है कि अगर कोई इंसान शाम के समय में मर जाता है तो उसे अगले दिन ही अंतिम संस्कार के लिए लेकर जाते है। क्योंकि शास्त्रों के अनुसार किसी भी मृतक को दिन छिपने के बाद जालाना वर्जीत है। लेकिन समय के साथ साथ अब लोग जलाने लगे है।Image result for आत्मा

लेकिन सही बात तो यह है कि नहीं जलाना चाहिए। दोस्तों जब शाम को मरने वाले इंसान को जलाने के लिए अगले दिन का इंतजार किया जाता है तो हमने कई बार देखा है कि मृतक के शव को अकेला नहीं छोड़ा जाता है। अब यह सौचने वाली बात है कि आखिर ऐसा क्यों किया जाता है। इतना ही नहीं उस शव के पास किसी ना किसी को बिठाकर उसकी रखवाली करनी पड़ती है ऐसा आपने कई बार देखा भी होगा।Image result for आत्मा

हालांकि इसका दूसरा कारण यह है कि किसी परिवार का कोई प्रिय व्यक्ति खत्म होता है तो स्नेह कै चलते उससे कोई दूर नहीं होना चाहता है लेकिन अगर शास्त्रों की बात कर तो इसका अलग कारण दिखाई देता है। दोस्तों शास्त्रों के अनुसार अगर किसी की मौते हो जाती है तो उसके शरीर से आत्मा निकल जाती है।Image result for आत्मा

और वह खाली हो जाता है। वह आत्मा तो यमलोक चली जाती है लेकिन कई सारी ऐसी दुष्ठ आत्मा होती है जो भटकती रहती हैं। अगर उस बॉडी को अकेल छोड़ दे तो कई सारी गलत आत्मा उसके अंदर प्रवेश कर सकती है इसलिए हमेंशा उसके पास किसी ना किसी को बिठाकर रखना पड़ता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here