अब कैंपर्स नहीं ले पाएंगे चंद्रताल पर कैंपिग करने का मज़ा

जिन लोगो को पहाड़ो के बीच कैंपिंग करने का शौक हैं उनके लिए सिप्ती एकदम सही जगह हैं। यहां पर आप झील के किनारे कैंपिंग का भी लुत्फ उठा सकते थे।

0

जयपुर। जिन लोगो को पहाड़ो के बीच कैंपिंग करने का शौक हैं उनके लिए सिप्ती एकदम सही जगह हैं। यहां पर आप झील के किनारे कैंपिंग का भी लुत्फ उठा सकते थे। जी हां थे क्योंकि अब यहां पर झील के पास कोई भी कैंपिंग नहीं कर पाएगा। यहां की सरकार नें झील के किनारे कैंपिंग करने पर बैन लगा दिया हैं। पर्यटकों के नजरिए से काफी लोकप्रिय स्थल चंद्रताल झील के पर्यावरण को बचाने के लिए लोकल पंचायत ने यह प्रतिबंध लगाया है।

बता दें कि चंद्रताल सिप्ती की सबसे मशहूर झील हैं और कई पर्यटक यहां पर इस झील के किनारे अपना समय बीताने आते हैं। हर साल यहां पर पर्यटकों की काफी भीड़ लगी रहती हैं। यह झील सिप्ती घाटी में समुद्र तल से 4300 मीटर की ऊंचाई पर स्थित हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक यहां पर पिछले कुछ सालों में गंदगी कुछ ज्यादा ही बढती जा रही हैं। यहां आकर पर्यटक झील के पास कैंपिंग तो करते हैं मगर उनके द्वारा किया हुआ कचरा वहीं छोड़ जाते हैं और यही कारण हैं कि अब वहां की सरकार ने झील के पास कैंपिंग करने से साफ मना कर दिया हैं। यहां पर किसी को भी झील के पास कैंपिंग की अनुमती नहीं दी जाएगी।

बता दें कि कोकसर पंचायत रे प्रधान का कहना हैं कि चंद्रताल को बचाने के लिए उन्हें यह कदम उठाना पड़ा। ढझील के आस पास इकट्ठा हुआ कचरा सिर्फ झील के लिए ही नहीं बल्कि यहां के पर्यावरण और जंगली जानवरों के लिए भी खतरा पैदा कर सकता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here