निर्भया गैंगरेप के दोषी की याचिका को अब सुप्रीम कोर्ट ने किया खारीज

0

निर्भया केस को लेकर ऩई अपडेट है। निर्भया गैंगरेप से जुड़े चारों दोषियों में से एक एक पवन गुप्ता की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। दोषी पवन ने कोर्ट में याचिका लगाकर कहा था घटना के दौरान वह नाबालिग था लेकिन साल 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने पवन को बालिग माना है। कोर्ट में सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद यह फैसला दिया गया है। हालांकि, निचली अदालतों ने इसे खारिज कर दिया था।

निर्भया गैंगरेप के दोषियों को अब 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी दी जाएगी। इसके लिए दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने शुक्रवार को नया डेथ वारंट जारी किया था। इससे पहले कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप मामले में चारों दोषियों के लिए 22 जनवरी का डेथ वारंट जारी किया था। दोषियों में से एक मुकेश ने राष्‍ट्रपति के पास दया याचिका दायर की थी। इस दया याचिका को शुक्रवार को खारिज कर दिया गया था।

राष्ट्रपति के पास विचाराधीन दया याचिका के खारिज होने के बाद चारों दोषियों को फांसी को लेकर आ रही अटकलें साफ हो गई। अब दोषियों को फांसी देने के लिए 14 दिन का नोटिस जारी किया गया। इसके चलते मुकेश सिंह के पास फांसी से बचने को लेकर जो अंतिम रास्ता था वो भी अब बंद हो चुका है। इसके चलते अब निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को अब फांसी लगना तय माना जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई थी। दिल्ली में 2012 में निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस को लेकर आक्रोश देखने को मिला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here