अब कोर्ट ने निर्भया दोषियों को लेकर उठाया ये बड़ा कदम

0

निर्भया गैंगरेप के दोषी खुद को फांसी बचने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे हैं। हर बार दोषियों के मंसुबों पर पानी फिर जाता है और हार का मुंह देखना पड़ता है। शुक्रवार को निर्भया केस के चार में से तीन दोषियों विनय, पवन और अक्षय ठाकुर ने कोर्ट में याचिका दायर की थी। इस याचिका में दोषियों ने कहा था कि अब तक तिहाड़ जेल प्रशासन ने उनको दस्तावजे उपलब्ध नहीं कराए हैं। कोर्ट ने तीनों दोषियों को कोई भी आदेश देने से इनकार कर दिया है।

जज ने सभी दस्तावेज दोषियों के वकील को देने की इजाजत दी है। निर्भया के दोषियों को दस्तावेज, पेंटिंग और डायरी को फोटो कॉपी दी जाने की बात कही है। इससे पहले निर्भया गैंगेरेप के तीन दोषियों पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय सिंह ठाकुर के एडवोकेट एपी सिंह ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। वकील एपी सिंह ने दिल्ली कोर्ट में याचिका दायर गुनहगारों का पक्ष रखते हुए कहा कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने अब तक संबंधित पेपर उपलब्ध नहीं कराए हैं। इससे वह फांसी की सजा पाने वाले पवन कुमार, ए विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर की दया याचिका और क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल कर सकें।

तीनों दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट का रूख किया तो एक फरवरी को होने वाली फांसी टल सकती है। किसी भी एक आरोपी की दया याचिका लंबित होने पर उनकी फांसी आगे खिसकने की आशंका रहती है। यदि याचिका खारिज की गई तो दोषियों के पास राष्ट्रपति के पास दया याचिका का विकल्प् है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here