केरल सोना तस्करी मामले में एनआईए ने स्वप्ना सुरेश, 3 अन्य के खिलाफ यूएपीए लगाया

0

केरल सोना तस्करी मामले में शुक्रवार को एक नया मोड़ आ गया। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने प्रमुख संदिग्ध स्वप्ना सुरेश सहित चार लोगों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की। स्वप्ना मुख्यमंत्री पिनरई विजयन के अब हटाए जा चुके सचिव और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एम. शिवशंकर की करीबी है।

एनआईए ने स्वप्ना द्वारा दायर अग्रिम जमानत याचिका के बाद शुक्रवार को केरल उच्च न्यायालय में आरोपी के खिलाफ अपना आरोप-पत्र दायर किया।

एनआईए द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि केरल सोना तस्करी मामले में गैर कानूनी गतिविधि (निवारक) अधिनियम, 1967 की धारा 16, 17 और 18 के तहत चार आरोपियों -पी.एस. सारिथ, स्वप्ना प्रभा सुरेश, फाजिल फरीद और संदीप नायर- के खिलाफ त्रिवेंद्रम अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से पांच जुलाई को कस्टम (प्रीवेंटिव) कमिशनरेट, कोचीन द्वारा 14.82 करोड़ रुपये मूल्य के 24 कैरेट के 30 किलोग्राम सोने की बरामदगी के सिलसिले में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।

एनआईए ने आगे कहा कि यह खेप यूएई से आए एक राजनयिक बैगेज में रखी हुई थी, जो वियना कन्वेंशन के अनुसार निरीक्षण से मुक्त है।

कथित खेप यूएई कंसुलेट में पहले एक जन संपर्क अधिकारी के रूप में काम कर चुके सारिथ के नाम थी।

कस्टम विभाग की प्रारंभिक जांच से पता चला है कि सारिथ इस तरह की कई खेपें पहले भी प्राप्त कर चुका है।

बयान में कहा गया है, “चूंकि यह मामला दूसरे देश से भारत में बड़ी मात्रा में सोने की तस्करी से जुड़ा है, लिहाजा यह देश की आर्थिक स्थिरता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है। यह एक आतंकी गतिविधि के समान है, जैसा कि गैरकानूनी गतिविधि (निवारक) अधिनियम, 1967 की धारा 15 में कहा गया है।”

एनआईए ने कहा, “चूंकि यह मामला राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सूत्रों से जुड़ा हुआ है और प्रारंभिक पड़ताल से पता चला है कि तस्करी के सोने का इस्तेमाल भारत में आतंकवाद को वित्तपोषण में किया जा सकता है, लिहाजा एनआईए ने इस मामले को अपने हाथ में लिया है।”

सारिथ और स्वप्ना यूएई कंसुलेट कार्यालय में साथ काम कर चुके हैं और बाद में स्वप्ना ने आईटी विभाग से जुड़ी एक हाई-प्रोफाइल नौकरी जॉइन कर ली, जिसके शिवशंकर सचिव थे।

एनआईए इस बात की भी जांच कर सकती है कि कही किसी गोपनीय फाइल की गोपनीयता तो भंग नहीं हुई है।

इस बीच, रपटें आई हैं कि स्वप्ना की स्नातक की डिग्री फर्जी है और उसके खुद के भाई के अनुसार, उसे नहीं पता कि वह कक्षा 10 भी पास है या नहीं।

इस मामले से केरल में राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है और राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सोना तस्करी मामले की एक एनआईए-सीबीआई-रॉ जांच के आदेश देने का आग्रह किया।

पार्टी ने पहले ही विजयन के इस्तीफे की मांग की है और कोविड-19 के प्रोटोकॉल्स के बावजूद पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन आयोजित किया है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleचीनी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता द्वारा अमेरिकी लिस्टिंग के लिए आवेदन
Next articleमहेश भट्ट हुए ट्रोल अच्छे समाज की परिभाषा पर लोगो ने खीचे कान
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here