New Social Media मानदंड प्रवर्तन एजेंसियों को सशक्त बनाते हैं : विशेषज्ञ

0

भारत सरकार ने गुरुवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए नए कड़े दिशानिर्देशों की घोषणा की। इस संदर्भ में कानूनी और नीति विशेषज्ञों का कहना है कि ये नियम पुलिस और प्रवर्तन एजेंसियों को सशक्त बनाएंगे, जबकि ‘ट्रेसबिलिटी’ की जरूरत भारत में सेवाएं देने वाले कुछ प्लेटफॉर्मो के लिए मुश्किल पैदा कर बना सकती है। सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम 2021 में यह आदेश दिया गया है कि सोशल मीडिया के मध्यस्थों सहित मध्यस्थों को उपयोगकर्ताओं या पीड़ितों से शिकायतें प्राप्त करने के लिए एक शिकायत निवारण तंत्र स्थापित करना होगा।

वकील वीएन गुप्ता ने दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष आए गोविंदाचार्य के मामले का जिक्र करते हुए आईएएनएस से कहा, “नए नियम भारत में महत्वपूर्ण सोशल मीडिया बिचौलियों द्वारा मुख्य अनुपालन अधिकारी, नोडल संपर्क व्यक्ति और निवास शिकायत अधिकारी की नियुक्ति को अनिवार्य करते हैं।”

उन्होंने कहा कि यह एक ऐतिहासिक विकास है, जिसे यदि दृढ़ता से लागू किया जाता है, तो यह डिजिटल कंपनियों के कानूनी परिदृश्य को बदल देगा।

गुप्ता ने कहा, “यह पुलिस और प्रवर्तन एजेंसियों को और अधिक सुविधा प्रदान करेगा, जिन्हें सामाजिक से प्रारंभिक और सुविधाजनक प्रतिक्रिया मिल सकती है।”

नए मानदंडों के अनुसार, मुख्य रूप से संदेश भेजने की सेवाएं प्रदान करने वाले महत्वपूर्ण सोशल मीडिया बिचौलियों को उस जानकारी के प्रवर्तक की पहचान करने में सक्षम होना चाहिए जो केवल भारत की संप्रभुता और अखंडता, राज्य की सुरक्षा, मैत्रीपूर्ण संबंधों से संबंधित अपराधों के लिए आवश्यक है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleThe Girl On The Train Movie Review: बेहद दमदार है ​परिणीति चोपड़ा की फिल्म
Next articleGuru ravidas jayanti 2021: कल है रविदास जयंती, जानिए इनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here