नए निर्यात प्रोत्साहन से सारी अनिश्चितताएं दूर हुईं : डीजीएफटी

0
52

विदेश व्यापार महानिदेशक (डीजीएफटी) आलोक वर्धन चतुर्वेदी का कहना है कि सरकार ने निर्यात प्रोत्साहन के मसले को लेकर सारी अनश्चितताओं को दूर करते हुए जो नए क्रेडिट वृद्धि संबंधी कदम उठाए हैं, उनसे निर्यात को बढ़ावा मिलेगा। निर्यातकों के लिए अनिश्चितता को दूर करते हुए सरकार ने शनिवार को प्रचलित मर्चेडाइज एक्सपोर्ट इन्सेंटिव स्कीम (एमईआईएस) को बदलकर इनपुट ड्यूटीज व टैक्स की प्रतिपूर्ति के लिए नई स्कीम की घोषणा की।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने एमईआईएस को बदलकर रीमिशन ऑफ ड्यूटीज ऑर टैक्स ऑन एक्सपोर्ट प्रोडक्ट्स (आरओडीटीईपी) की घोषणा की।

टेक्सटाइल्स में मौजूदा एमईआईएस और पुराना आरओएसएल (रिबेट ऑफ स्टेट लेवीज स्कीम) 31 दिसंबर 2019 तक जारी रहेंगे। टेक्सटाइल्स और अन्य सभी सेक्टर जिन्हें वर्तमान में एमईआईएस में दो फीसदी का प्रोत्साहन मिलता है, वे सभी एक जनवरी 2020 से आरओडीटीईपी में बदल जाएंगे।

इस प्रकार निर्यातकों को आरओडीटीईपी में मौजूदा दोनों स्कीमों से ज्यादा प्रोत्साहन मिलेगा।

नई स्कीम लागू होने से सरकारी खजाने पर अनुमानित 50,000 करोड़ रुपये सालाना का बोझ पड़ेगा।

चतुर्वेदी ने आईएएनएस से कहा, “हमें उम्मीद है कि घोषित स्कीम में मौजूदा एमईआईएस से ज्यादा मुआवजा मिलेगा। यह स्पष्ट करना काफी जरूरी है कि एमईआईएस और आरओएसएल 31 दिसंबर तक जारी रहेंगे और आरओडीटीईपी एक जनवरी से लागू होगा।”

उन्होंने कहा कि सेक्टर में एक्सपोर्ट क्रेडिट में कमी चिंता का विषय था, लेकिन उसका समाधान अब स्पष्टता के साथ हो गया है।

हालांकि उनका कहना है कि निर्यात के क्षेत्र में ज्यादा सुस्ती नहीं है लेकिन पेट्रोलियम के वैश्विक मूल्य का निर्यात और आयात पर असर पड़ रहा है।

उन्होंने कहा, “मैंने यह नहीं कहा कि निर्यात में सुस्ती है। अगस्त महीने में इसमें सुस्ती थी लेकिन अप्रैल से अगस्त की अवधि को देखें तो निर्यात में ऐसी कोई गिरावट नहीं है। निर्यात तकरीबन पिछले साल के बराबर रहा है। लेकिन पेट्रोलियम के दाम अगर दुनिया में तेज होता है तो आमतौर पर हमारा निर्यात और आयात ज्यादा होता है और इसी प्रकार की स्थिति विपरीत स्थिति में होती है।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleiPhone 11 सीरीज की उम्मीद से ज्यादा है मांग, पूराने मॉडल्स की कीमतें होंगी कम
Next articleसोशल मीडिया बॉयफ्रेंड के ट्रोल होने पर तिलमिलाई अभिनेत्री, दिया मुंहतोड़ जवाब
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here