कभी भूल कर भी ना बीपी की परेशानी को हल्के में हो सकता है जानलेवा

हम कुछ ऐसी बीमारियों के शिकार हो जाते हैं जिनसे पीछा छुड़ा पाना भी बहुत मुश्किल हो जाता है । रोज रोज की यह भाग दौड़ और कभी न सुकून पा सक्ने वाली यह दिनचर्या हमको रोजाना का नया तनाव दे जाती है ।

0
76

जयपुर । आज कल की जीवन शेली जिस तरह की हो चली है उसके चलते हम अपनी सेहत का ध्यान रखना जैसे भूलते ही जा रहे हैं । कई कई बार तो हालात यह होते हैं की हम कुछ ऐसी बीमारियों के शिकार हो जाते हैं जिनसे पीछा छुड़ा पाना भी बहुत मुश्किल हो जाता है । रोज रोज की यह भाग दौड़ और कभी न सुकून पा सक्ने वाली यह दिनचर्या हमको रोजाना का नया तनाव दे जाती है ।

आज हम इसी कारण से सबसे ज्यादा होने वाली बीमारी जिसका शिकार आज कल 21 साल का युवा भी हो रहा है उसी के बारे में बात करने जा रहे हैं । आज हम आपसे बात कर रहे हैं बीपी की परेशानी के बारे में । यह बीमारी एक समय में सिर्फ और सिर्फ बड़े बुजुर्गों को ही हुआ करती थी पर आज युवाओं को यह बीमारी सबसे ज्यादा हो रही है । इस बीमारी में हल्के मे लेना बहुत ही हानिकारक हो सकता है ।

बीपी की परेशानी आपको सबसे ज्यादा तनाव और अनहेलदी लाइफस्टायल के कारण होती है । सारा सारा दिन हम एक ही जगह बैठ कर काम करते हैं और साथ ही हम जिस तरह का खाना खा रहे हैं यह भी हमारे लिए बहुत परेशानियाँ दे रहा है । इन सभी का असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है और यह बीपी की परेशानी को बढ़ावा देता है ।

इस परेशानी को हल्के में लेने से  आपको मानसिक बीमारी , दिल की बीमारी , डायबिटीज़ की परेशानी और भी कई सारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है । इतना ही नही यह किडनी की इमारी के साथ साथ सर की कई नसों को भी प्रभावित करता है , जिसके कारण नाक की नस का फट जाना ब्रेन हेमरेज की परेशानी हो जाना , आँखों की परेशानी हो जाना यहा सब समस्याएँ हो जाती है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here