नासा 2020 को मंगल पर भेजेगा ये चीज़ से जिससे इंसान को मिलेगी मंगल पर ऑक्सिजन

0
34

जयपुर। हर देश मंगल पर जाने की होड़ में है लेकिन सबसे आगे अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा (नैशनल एरनॉटिक्स स्पेस ऐडिमिनिस्ट्रेशन) है। इसके मुकाबले सारे देश पीछे है। इसने कई  उपग्रह मंगल पर भेजे है और परीक्षण भी किया है। परीक्षण के दौरान पाया गया है कि मंगल पर पानी है हालांकी इसका कोई ठोस सबूत नहीं मिला है। जिज्ञासा रोवर ने इसकी कुछ हद तक जानकारी दी है जिस पर वैज्ञानिक खोज कर रहे हैं। और अब नासा मंगल पर ऑक्सिजन बनाने  रहा है।

आपको बता दे कि मंगल पर ऑक्सिजन नहीं है। इसके लिए नासा अब मंगल पर ऑक्सिजन बनायेगा। नासा के शोधकर्ताओं ने बताया है कि अब वे मंगल के वातावरण में ऑक्सिजन बनाने की योजना बना रहा है। इस मिशन के लिए साल 2020 में ‘रोवर’ नाम के मिशन के तहत मंगल पर सूक्ष्मजीव भेजेंगे। जो मंगल पर ऑक्सिजन बनायेंगे। वैज्ञानिकों को इस बैक्टिरिया से उम्मीद है कि मंगल पर कुछ खाने के बाद ऑक्सिजन निकालेंगा।

अगर यह प्रयोग सफल होता है तो भविष्य में मंगल पर इंसानों के बसने की कल्पना को सच की जै सकती है। जानकारी के लिए बता दे कि इस समय मंगल पर ऑक्सिजन की मात्रा केवल 0.13 प्रतिशत है, जबकि कार्बन डाइऑक्साइड 95 प्रतिशत है। और ये बैंक्टिरिया  मंगल पर जा कर ऑक्सिजन  कि मात्रा बढ़ायेगा। जिससे इंसान का सांस लेना आसान हो जायेगा। और वह आसानी से जीवित रह सकता है। अब सारी उम्मीद इस बैक्टिरिया पर अटकी हुई देखते है ये सफल होता है या नहीं।   

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here