इस छात्रा के नाम पर रखा गया ब्रह्मांड के नए ग्रह का नाम

0
68

जयपुर। भारतीय प्रतिभा किसी पहचान की मोहताज नहीं है इस बात को बात को सारी दुनिया मान चुकी है। सी बात को साबित करते हुये 16 साल की बंगलुरू की 12वी कक्षा की छात्रा साहिथी पिंगली ने एक अलोखी खोज की है। साहिथी ने हाल ही में इंटेल इंटरनेशनल साइंस एंड इंजिनियरिंग फेयर (ISEF) में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। आपको बता दे कि यह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली एक बहुत बड़ी प्रतियोगिता है। जिसमें इस स्कूली छात्रा ने दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

साथ ही उसे पृथ्वी और वातावरण श्रेणी में तीन विशेष पुरस्कार भी प्रदान दिए गये है। वाकई में भारतीय बच्चों का कोई सानी नही है अगर सही समय पर सही मार्गनिर्देशन मिल जाये तो भारत का भविष्य बहुत ही खूबसूरत होगा। 12 कक्षा कि छात्रा साहिथी ने वाटर बॉडी में प्रदूषण की मात्रा पर निगरानी रखने के लिए एप आधारित एक तकनीक विकसित की है। साहिथी ने इस प्रोजेक्ट पर एक शोध पत्र भी पेश किया है जिसमें सारी जानकारी दि गई है।

साहिथी का प्रेजेंटेशन इतना लाजवाब था कि दुनिया के नंबर शोध संस्थान मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के लिंकन लैबोरेटरी ने छात्रा के नाम पर एक छोटे ग्रह का नाम रख दिया है और यह भारत के लिए यह गौरव का विषय है। यह काम युवाओं के लिए  वैज्ञानिकों की हौसालअफ़जाई के लिए किया है। साहिथी ने बताया कि जल प्रदूषण की समस्या के कारण हमारी 90 प्रतिशत झीलें कचरे से भरी पड़ी है इनकी निगरानी इस तरह से की जा सकती है। जिससे कई बहुत सी समस्याओं को हल निकल सकता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here