महाराष्ट्र : भाजपा ने कहा, सरकार बनाने में असमर्थ, शिवसेना को ‘शुभकामनाएं’ दीं

0
53

एक प्रमुख राजनीतिक घटनाक्रम में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को स्वीकार किया कि उसके चुनाव पूर्व गठबंधन को जनादेश मिलने के बावजूद वह महाराष्ट्र में सरकार बनाने में असमर्थ है। भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा कि पार्टी कोर कमेटी की सुबह से व्यस्त बैठकों के बाद शाम को राज्यपाल बी. एस. कोश्यारी को पार्टी के रुख से अवगत करा दिया गया है।

पाटील ने राजभवन के लॉन में मीडिया से संक्षिप्त बातचीत में कहा, “शिवसेना ने जनादेश का अपमान किया है..अगर शिवसेना, कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सहयोग से सरकार बनाने की स्थिति में है तो हम उन्हें अपनी शुभकामनाएं देते हैं।”

पाटील के साथ उनके पूर्व मंत्रिमंडलीय सहयोगी आशीष शेलार, सुधीर मुनगंटीवार, विनोद तावडे, पंकजा मुंडे व गिरीश महाजन भी थे। भाजपा की सरकार बनने का शनिवार तक दावा कर रहे निवर्तमान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इस मौके पर इनके साथ मौजूद नहीं थे।

घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि सरकार बनाने के लिए शिवसेना की तरफ से कोई औपचारिक प्रस्ताव नहीं मिला है।

मलिक ने मीडिया से कहा, “हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष मंगलवार को मुंबई में होने वाली पार्टी विधायकों की बैठक में पार्टी का रुख स्पष्ट करेंगे।”

कांग्रेस ने भी शिवसेना को समर्थन देने के लिए अपने विधायकों की मनोदशा को पता करने के लिए उनके साथ अनौपचारिक चर्चा की। यह विधायक वर्तमान में जयपुर में हैं। हालांकि, पार्टी हाईकमान पहले ही इस मामले में अपनी अनिच्छा जाहिर कर चुका है।

इसे लेकर मुंबई में कांग्रेस में दो तरह की राय है। शहर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने दोहराया कि कांग्रेस को किसी भी कीमत पर शिवसेना से दूरी रखनी चाहिए, जबकि मिलिंद एम. देवड़ा ने शिव सेना के सहयोग से कांग्रेस-राकांपा सरकार बनाने की संभावनाओं की बात कही।

राज्यपाल कोश्यारी द्वारा शनिवार देर भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के बाद से राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई थीं। भाजपा 105 विधायकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleनागपुर टी-20 : अय्यर-राहुल ने भारत को बड़े स्कोर तक पहुंचाया
Next articleउत्तर प्रदेश : पुजारी का शव मिला, हत्या की आशंका
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here