न्यूवोको के सीडीआईसी को एनएबीएल की मान्यता

0
108

निर्माण सामग्री की अग्रणी निर्माता कंपनी न्यूवोको विस्तास कॉर्प लि. (पूर्व में लाफार्ज इंडिया लिमिटेड) के कंस्ट्रक्शन डेवलमेंट एंड इनोवेशन सेंटर (सीडीआईसी) को नेशनल एक्रिडिएशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लैबोरेट्रीज (एनएबीएल) से मान्यता मिल गई है। कंपनी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, “सीडीआईसी अब 100 से अधिक यांत्रिक परीक्षण कर सकता है, जिसमें से 55 परीक्षण एनएबीएल मान्यता के अंतर्गत आते हैं। इनमें सीमेंट, फ्लाई ऐश, जीजीबीएस (ग्राउंड ग्रैन्यूलेटेड ब्लास्ट-फर्नेस स्लैग), कंक्रीट, एग्रीगेट, ईंट, ब्लॉक्स और निर्माण रसायन सहित कई सामग्रियों का परीक्षण शामिल है।”

कंपनी ने कहा, “इस समर्थन के साथ सीडीआईसी अन्य प्रसिद्ध परीक्षण सुविधाओं की लीग में शामिल होने के लिए अच्छी तरह तैयार है, जो परीक्षण की एक विस्तृत श्रंखला को पूरा करने में सक्षम, योग्य और विश्वसनीय है। सीडीआईसी तृतीय पक्ष बाहरी परीक्षण सेवाएं भी प्रदान करेगी। ग्राहकों को भरोसा दिया जा सकता है कि कंपनी द्वारा प्रदान किए गए उत्पाद और समाधान उच्चतम मानकों के अनुरूप हैं और विश्व स्तर पर मान्य भी होंगे।”

न्यूवोको की रणनीति, आईटी, विपणन और नवोन्मेष प्रमुख मधुमिता बासू ने कहा, “सीडीआईसी एक ग्राहक इंटरफेस क्षेत्र है, जहां हम अपने हितधारकों के साथ बातचीत करते हैं और बाजार की उम्मीदों को पूरा करते हैं। यह निर्माण सामग्री पर गहन तकनीकी ज्ञान और विशेषज्ञता का भंडार है, जहां हमारी इन-सीटू आरएंडडी टीम अग्रणी अनुसंधान संस्थानों, स्कूलों और विश्वविद्यालयों के साथ मिलकर काम करती है, ताकि अनुसंधान में प्रगति हो सके और स्थानीय बाजार की जरूरतों को पूरा करने वाले नए सिस्टम और समाधानों के विकास को गति प्रदान की जा सके। एनएबीएल मान्यता हमारे ग्राहकों के लिए गुणवत्ता परीक्षण सेवाओं की पेशकश करने की हमारी क्षमताओं को और बढ़ाएगी।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleदीपिका के बाद अब इस विश्व सुंदरी को लॉन्च करेंगी फराह खान, आप भी जानें
Next articleहार्दिक पांडया, राहुल जांच के चलते प्रतिबंधित
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here