Munger violence : कांग्रेस ने ‘हिंदुत्व’ के मुद्दे पर भाजपा को घेरा

0

मुंगेर में हिंसा के बाद कांग्रेस मुखर है और वह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार को बैकफुट पर रखने के लिए इस मुद्दे को जोर-शोर से उठा रही है। हिंदू श्रद्धालुओं को पुलिस द्वारा कथित रूप से पीटने की घटना के बाद मुंगेर में हिंसा देखने को मिली है।

शुक्रवार को कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बिहार के राज्यपाल फागू चौहान को एक ज्ञापन सौंपा और नीतीश कुमार सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।

मुंगेर में हिंसा के साथ, कांग्रेस को हिंदुत्व के मुद्दे पर भाजपा को घेरने का अवसर मिल गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूछा, प्रधानमंत्री इस पर चुप क्यों हैं?

कांग्रेस ने कहा कि जब एसपी और डीएम को चुनाव आयोग ने पद से हटा दिया, तब तो यह खराब शासन का मामला है।

विपक्ष ने घटना के समय मुंगेर के एसपी को भी दोषी ठहराया है, जो जेडीयू के एक वरिष्ठ नेता की बेटी है।

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने इस मुद्दे पर कहा, मैं आपसे प्रश्न पूछना चाहता हूं: क्या इस देश में सभी आवश्यक सुरक्षा उपायों के साथ दुर्गा पूजा करना अपराध है और अगर इसमें कुछ उल्लंघन है, तो क्या यह मनुष्यों के साथ जानवरों की तरह व्यवहार करने का तरीका है? क्या मानव के लिए कोई सम्मान नहीं है?

सिंघवी ने मुंगेर घटना को बर्बर एवं क्रूर करार दिया।

कांग्रेस की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने भी इस मुद्दे पर सरकार पर हमला बोला है। पार्टी सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि बिहार के मुंगेर जिले में हुई हिंसक घटनाएं ‘हिंदुत्व’ पर हमला है और सवाल किया कि राज्य सरकार मामले में चुप्पी क्यों साध रही है।

राउत ने कहा, देवी दुर्गा विसर्जन के दौरान हिंसा भड़कने के बाद पुलिस गोलीबारी में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई। यह बिहार में ‘हिंदुत्व’ पर सीधा हमला है, लेकिन राज्य सरकार मामले में क्या कर रही है?

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleटी-20 में 1000 छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बने Gayle
Next articleIPL में पांच बार 99 के फेर में पड़े हैं बल्लेबाज
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here