मिस्टर कूल नहीं हैं धोनी, मैदान पर ही कई बार दिखा चुके हैं अपना गुस्सा

0

जयपुर स्पोर्ट्स डेस्क।। महेंद्र सिंह धोनी की गिनती दुनिया के बड़े खिलाड़ियों में होती है, वह बतौर कप्तान भी सफल रहे और टीम इंडिया को विश्व विजेता भी बनाया । महेंद्र सिंह धोनी को मैदान पर मिस्टर कूल की संज्ञा दी गई है पर यह किस हद क सही है इस पर गौर करना चाहिए ।

आखिर ऐसा क्या हुआ था जब श्रेयस अय्यर को ले जाना पड़ा मनोचिकित्सक के पास

बेशक धोनी का स्वभाव शांत हों पर मैदान पर ऐसे कई मौके रहे हैं जब महेंद्र सिंह धोनी अपना आपा खो बैठे। यही वजह है कि धोनी पर लगा मिस्टर कूल का टैग हर किसी को पचता नहीं है। धोनी का गुस्सा कब – कब मैदानों पर दिखा है उनके बारे में भी आपको बताते हैं।

कोरोना वायरस से संक्रमित इस दिग्गज के लिए बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने की प्रार्थना

आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब को दो ओवरों में 39 रन चाहिए थे तब सीएके कप्तान ने दीपक चाहर को गेंद दी थी। चाहर ने पहली गेंद कमर से ऊपर फेंकी जिस पर बाउंड्री लगी। इसके बाद लगातार दूसरी गेंद इसी तरह फेंकी और जिस पर भी दो रन बने। और दीपक चाहर ने बिना गेंद फेंके ही 8 रन दे दिए और ऐसा होता देख धोनी नाराज हुए थे और उन्होंने चाहर को बुरी तरह डांटा था।

इस दिग्गज खिलाड़ी को मिली सलाह- इज्जत के साथ इंटरनेशनल क्रिकेट छोड़ दो

इसके अलावा भारतीय टीम 2012 ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मुकाबले खेल रही थी तब धोनी की मैदानी अंपायर से जमकर बहस हुई थी। इसके अलावा निदाहास टॉफी में हाल के दिनों में धोनी मनीष पांडे को गाली देते हुए नजर आए थे। इस तरह महेंद्र सिंह धोनी के करियर में कई वाक्या रहे हैं जब वह अपने गुस्से को कंट्रोल नहीं कर पाए । अब क्रिकेट फैंस को ही तय करना होगा क्या सचमुच धोनी कूल या नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here