MP : भाजपा ने पदाधिकारियों को दिया अनुशासित रह अगले चुनाव जीतने का मंत्र

0

मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी का लंबे अरसे बाद स्वरूप बदला जा सका है, नए पदाधिकारियों ने रविवार को पदभार संभाला। पदभार ग्रहण समारोह में सभी को टीम भावना से काम करते हुए वर्ष 2023 के विधानसभा और वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में जीत का मंत्र दिया। साथ ही पदाधिकारियों को अनुशासित रहने की भी हिदायत दी गई। भाजपा के नवनियुक्त पदाधिकारियों का पदभार ग्रहण समारोह पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित किया गया। इस मौके पर प्रदेशभर के कार्यकर्ता जुटे। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमल नाथ सरकार ने प्रदेश को भ्रष्टाचार का गढ़ बना दिया था, प्रदेश को लूट लिया। अब प्रदेश में भाजपा की सरकार है, लेकिन प्रत्येक कार्यकर्ता को यह बात याद रखनी चाहिए कि हमारी सरकार प्रदेश के विकास, जनता के कल्याण और मध्यप्रदेश को नंबर-1 राज्य बनाने के संकल्प की पूर्ति के लिए सत्ता में हैं और यही काम कर रहे हैं।

चौहान ने कहा कि “हमने प्रदेश में गुंडों, माफियाओं और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान चालू किया है और पूरा मलबा साफ होने से पहले प्रदेश की सफाई का यह अभियान नहीं रुकेगा। कुछ लोग अभी भी भ्रम फैलाने में लगे हैं, उनसे मुकाबले के लिए हमारे सभी मोचरें और कार्यकर्ताओं को तैयार रहना है।”

मुख्यमंत्री चौहान ने नवनियुक्त पदाधिकारियों को हिदायतें भी दीं। उन्होंने कहा कि नियुक्ति का उत्सव मनाएं, होर्डिग लगाएं, पटाखे फोड़ें मगर अपनी जिम्मेदारी का भी ख्याल रखें।

वहीं, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि भाजपा सामूहिक नेतृत्व के आधार पर आगे बढ़ती है। पार्टी के जिन कार्यकर्ताओं को दायित्व मिला है, वे अपनी भूमिका के साथ पूरे प्रदेश में पार्टी को मजबूत करेंगे। यह टीम वीडी शर्मा की नहीं, यह टीम भाजपा है। यह टीम सामूहिकता के साथ आगे बढ़ेगी।

उन्होंने कहा कि आने वाले नगरीय निकाय चुनाव में हम पूरी ताकत के साथ जुटें और 2023 और 2024 के चुनावों के लिए आज हम संकल्प लें कि टीम भावना के साथ भाजपा के काम में जुट जाएंगे। यहां से प्रत्येक पदाधिकारी और मोर्चा अध्यक्ष अपने अपने क्षेत्रों और अपने अपने कामों में जुटेंगे। मध्यप्रदेश भाजपा को आगे बढ़ाने के लिए हम परिश्रम की पराकाष्ठा करें।

शर्मा ने कहा कि आज एक वैचारिक युद्ध चल रहा है। कुछ देश विरोधी ताकतें समाज को तोड़ने और बांटने का काम कर रही है। भाजपा के कार्यकर्ता होने के नाते समाज में विघटन पैदा करने वाली ताकतों को रोकने और उन्हें मुखरता के साथ जवाब देने की जिम्मेदारी हमारी है। इसके लिए हमें समाज के हर वर्ग से संवाद करते हुए भाजपा को पहुंचाने का काम करना है। हर ग्राम केंद्र, नगर केंद्र और बूथ पर भाजपा को मजबूत करना है।

उन्होंने कहा कि जहां भी भाजपा कमजोर दिखती है, तो भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता की जिम्मेदारी है कि वह भाजपा को मजबूत करने के लिए जुटे।

भाजपा के पदभार ग्रहण समारोह में तमाम पदाधिकारियों के अलावा संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा भी मौजूद रहे।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleIsrael : कोरोना वैक्सीन लेने पर 13 लोगों के चेहरे में हल्का पैरालाइसिस
Next articleहमने उन्हें थोड़ा टिकने का मौका दिया : Hazelwood
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here