श्वेत और अश्वेतों के रंग भेद पर आधारित हैं ये फिल्में

0

बीते दिनों अमेरिका में एक अश्वेत ना​गरिक जॉर्ज फ्लायड की मौत के बाद से वहां के हालात काफी ज्यादा खराब हैं। एक तरफ कोरोना वायरस का कहर दूसरी तरफ जॉर्ज फ्लायड की मौत ने वहां के नागरिकों को और उग्र बना दिया है। अब अमेरिकन लोग सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए उतर आए है। जिसकी आंच व्हाइट हाउस तक पहुंच चुकी है। ऐसे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को छुपना पड़ा हैं। वैसे आपको बता दें कि अमेरिका में श्वेत और अश्वेत का भेदभाव आज से नहीं बल्कि कई दशकों से चला रहा है। जिस पर कई सारी फिल्मों का निर्माण भी किया गया है। आज हम आपको अपने इस लेख में श्वेत और अश्वेत के रंग भेद पर आधारित ​कुछ फिल्मों की लिस्ट लेकर आए हैं। जो आप यहां देख सकते हैं। आइए जानते हैं उन फिल्मों के बारे में –

गेट आउट
साल 2017 में रिलीज हुई फिल्म गेट आउट एक भयानक भेदभाव पर आधारित फिल्म है। जिसमे एक अश्वेत शख्स के साथ श्वेतों द्वारा भेदभाव किया जाता है जो बेहद डरावना होता है। आपको बता दें कि इस फिल्म को आस्कर अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। अगर आप इस फिल्म को देखना चाहते हैं तो ये आई ट्यून, अमेजॉन, यूट्यूब और गूगल प्ले पर आसानी से मिल सकती है।

अमेरिकन हिस्ट्री एक्स
इस फिल्म की कहानी एक ऐसे इंसान की है जो दो अश्वेतों की हत्या के जुर्म में जेल जाता है। जेल से छूटने के बाद वो अपने आपको बदलने की पूरी कोशिश करता है। साथ ही वो अपने नफरत से भरे अपने परिवार को भी बदलने की ​कोशिश करता है। वो नहीं चाहता है कि उसका परिवार ऐसी लाइफ जीए जैसा की उसने अपनी लाइफ में देखा है जिसके लिए उसको काफी संघर्ष करना होता।

जैंगो अनचेन्ड
इस फिल्म की कहानी एक ऐसे अश्वेत श्ख्स की है जिसको एक जर्मन का साथ मिलता है। दोनों साथ मिलकर पहले तो एक क्रिमिनल की हत्या कर देते है। इसके बाद वहीं अश्वेत श्ख्स जिसकी पत्नी एक श्वेत के घर में गुलाम की तरह रहती है। उसको छुड़ाने की कोशिश करता है। फिल्म की कहानी बेहद शानदार हैं।

12 ईयरर्स ए स्लेव
इस फिल्म की कहानी उस वक्त की है जब अश्वेत लोगों को गुलाम बनाकर रखा जाता था। इसकी कहानी में एक अश्वेत व्यक्ति को बेच दिया जाता है। इसके बाद उस शख्स का सामना कई खुंखार और क्रू लोगों से होता है जिनके बारे में सोच कर इंसान भय से कांप जाए। उस श्ख्स पर श्वेत लोग अत्याचार करते हैं। आखिरकार किसी तरह से वो बचकर अपने घर 12 साल बाद वापस आता है। इस फिल्म की कहानी आपको अंदर तक हिलाकर रख देगी।

टू किल ए मॉकिंग बर्ड
टू किल ए मॉकिंग बर्ड फिल्म की कहानी में श्वेत और अश्वेत के भेद को इस तरह से दिखाया है जो आपको एक बार सोचने पर मजबूर कर देता है। इसकी कहानी ऐसे वकील की है जो अश्वेत शख्स को कोर्ट से बचाता है। जिस पर एक श्वेत शख्स की पत्नी का रेप करने का आरोप है।

मैल्कम एक्स
इस फिल्म की कहानी एक ऐसे शख्स की है जो अश्वेत लोगों के हक के लिए लड़ता है। इस दौरान उसको कई सारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता हैं। यहां तक के कई बार उसकी खुद की जान पर भी बन आती है। लेकिन वो अपनी लड़ाई कठिन परिस्थितयों में भी जारी रखता हें।

अगर तय समय पर रिलीज होती बॉलीवुड की ये फिल्में तो इतना होता बॉक्स आफिस कलेक्शन

क्या आपने पहचाना बिग बॉस 13 के इस ​हैंडसम हंक को?

इस अभिनेत्री पर था साउथ सुपरस्टार महेश बाबू का क्रश, खुद किया खुलासा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here