पूर्वोत्तर और बिहार में बाढ़ से अब तक 44 लोगों की मौत, 70 लाख प्रभावित

0
417

जयपुर। पूर्वोत्तर और बिहार के कई हिस्सों में बाढ़ से हालत गंभीर होती जा रही है और मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इसकी वजह से मरने वालों की संख्या 44 हो चुकी है और इसी के अलावा बाढ़ से प्रभावित लोगों की भी संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और अब तक की जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि इस बाढ़ के चलते करीब 70 लाख इमारती प्रभावित हो चुके हैं.

असम के 33 में से 30 जिलों के करीब 300000 लोग बाढ़ से जूझ रहे हैं वहीं इस आपदा ने 15 लोगों की जान भी ले ली है और राज्य में ब्रह्मपुत्र का जलस्तर लगातार खतरे के निशान से ऊपर चल रहा है वही असम का मशहूर काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान लगभग पूरी तरीके से पानी में डूब चुका है वहीं पॉबिटोरा वन्यजीव अभियान और मानस राष्ट्रीय उद्यान भी जलमग्न हो चुके हैं इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल सोमवार को बात कर राज्य में बाढ़ के बारे में जानकारी ली जा सके.

वहीं पूर्वोत्तर के दूसरे राज्यों पर भी बाढ़ की मार लगी हुई है मिजोरम के कत्ल तुम परी नदी में बाढ़ आने की वजह से 32 गांव प्रभावित हुए हैं और कम से कम 1000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाना पड़ा है.

वहीं इसके अलावा वर्षा संबंधित घटनाओं में 5 लोगों की मौत हो गई है और मेघालय में पिछले 7 दिनों में ही मूसलाधार बारिश की वजह से दो नदियों में बाढ़ आ गई है जिसका पानी पश्चिम गारो हिल्स जिले के मैदानी इलाकों में घुस गया है और इसे कम से कम 1.14 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

वहीं दूसरी तरफ बिहार में बाढ़ की वजह से मरने वालों की संख्या 24 हो गई है .पड़ोसी देश नेपाल में मूसलाधार बारिश के बाद 12 जिलों में आई बाढ़ की वजह से 25.66 लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं पूर्वी चंपारण जिले में दो दो अलग-अलग घटनाओं में जांच और बच्चे डूब गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here