आ रहा है मोदी का 2.0 प्लान, 10 गुना ज्यादा चालान कटने के साथ ही कार मालिक के होगा केस

0
43

जयपुर। अब आने वाला समय ट्रैफिक नियम को बेधड़क तोड़ने वालों के लिए बहुत बुरा होने वाला है। जी हां, हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योकि, देश की सड़क परिवहन और हाइवे मंत्रालय की तरफ से बहुत जल्द मोटर व्हीकल्स के अमेंडेंट बिल को राज्यसभा में पेश किया जा सकता है। इस बिल के जरिए मोदी सरकार सड़क हादसों पर लगाम लगाने की कोशिश में है।

रिपोर्ट के अनुसार, अगर यह बिल पास हो जाता है, तो चालान को लेकर पुराने नियमों में बड़े फेरबदल देखने को मिल सकते है। इसमें वाहनों के ट्रैफिक रुल्स तोड़ने पर पहले 10 गुना ज्यादा का चालान काटने से लेकर कार के मालिक पर तुरंत एफआई दर्ज संबंधी नियम शामिल हैं।

दरअसल मोटर व्हीकल एक्ट, 1988 के अमेंड बिल को सरकार जल्द राज्यसभा में पेश कर सकती है। बता दें कि यह बिल पहले ही लोकसभा में पास हो चुका है। हालांकि, इस बिल को राज्यसभा में पास कराने में केंद्र सरकार के लिए कुछ चुनौतियां भी है। सरकार को राज्यसभा में इस बिल को पास करना के लिए बहुमत की जरूरत होगी। रिपोर्ट के अनुसार, इस बिल में वाहनों के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के लिए आधार को अनिवार्य करने की भी बात कही गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक अगर यह बिल पास होता है, तो फाइन की सीमा 1 लाख रुपये तक जा सकती है, जिसे राज्य सरकारों की तरफ से 10 गुना तक बढ़ाया जा सकता है। इसमें हादसे या फिर नियम को अगर कोई नाबालिग तोड़ता है तो इस पर कार के मालिक पर क्रिमिनल केस किया जा सकता है। वहीं कार के खराब पार्ट को ठीक करने की जिम्मेदारी कंपनियों की होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here