मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री जैसा व्यवहार कर रहे : केजरीवाल

0
66

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘विश्व प्रसिद्ध झूठा’ बताते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को उनपर (मोदी) भारत के संघीय ढांचे को नष्ट करने के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री जैसा व्यवहार करने का आरोप लगाया। आंध्र प्रदेश के अपने समकक्ष एन.चंद्रबाबू नायडू को उनके दक्षिणी राज्य को विशेष दर्जा देने की मांग को अपना समर्थन देते हुए आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख ने यह भी कहा कि मोदी पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

केजरीवाल ने कहा, “यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आंध्र के मुख्यमंत्री व हजारों लोग यहां राज्य के विशेष दर्जे के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। यह देश के संघीय ढांचे पर बड़ा सवाल खड़ा करता है।”

केजरीवाल ने यह बयान आंध्र भवन में दिया, जहां तेलुगू देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू दिनभर के अनशन पर हैं और केंद्र से आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम 2014 में किए गए वादों को पूरा करने व राज्य को विशेष दर्जा देने की केंद्र से मांग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री कम से कम तीन बार सार्वजनिक तौर पर घोषणा कर चुके हैं कि वह आंध्र को विशेष दर्जा देंगे। वह झूठ बोलने की दुनिया में प्रसिद्ध हैं। वह जो भी कहते हैं, उसे कभी पूरा नहीं करते हैं। यहां तक कि (भाजपा प्रमुख) अमित शाह का कहना है कि वह जो भी कहते हैं, वह कुछ नहीं बल्कि जुमला है।”

तिरुपति मंदिर में आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने के मोदी के संकल्प लेने का दावा करते हुए उन्होंने कहा, “एक व्यक्ति जो भगवान के सम्मुख दिए गए अपने वचन से पलट सकता है, उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता।”

पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ सीबीआई के विवाद को लेकर मोदी पर हमला करते हुए केजरीवाल ने कहा कि मोदी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री जैसा व्यवहार करते हैं।

उन्होंने कहा, “मैं मोदी को बताना चाहता हूं कि वह सिर्फ भाजपा के प्रधानमंत्री नहीं हैं, बल्कि पूरे भारत के प्रधानमंत्री हैं। जिस तरीके से वह गैर भाजपा दलों की राज्य सरकारों से व्यवहार करते हैं, उससे ऐसा लगता है कि वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं।”

आप नेता ने कहा कि कैसे मोदी ने दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार रोधी शाखा को अर्धसैनिक बलों के जरिए कब्जे में कर लिया।

उन्होंने आरोप लगाया, “अब उन्होंने 40 सीबीआई अधिकारियों को कोलकाता पुलिस आयुक्त को गिरफ्तार करने के लिए भेज दिया, जिसके जरिए उन्होंने सभी राज्यों की पुलिस व नौकरशाही को संदेश दिया कि उन्हें राज्य सरकारों के प्रति नहीं, बल्कि केंद्र के प्रति निष्ठावान होना चाहिए।”

इसे एक साजिश बताते हुए उन्होंने कहा, “यदि वह वह सफल हो गए होते, तो देश का संघीय ढांचा ध्वस्त हो गया होता। मैं इन 40 सीबीआई अधिकारियों को संभालने के तरीके को लेकर ममता दीदी को सलाम करता हूं।”

केजरीवाल ने लोकसभा चुनाव में मोदी-शाह की जोड़ी को हराने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, “यह एक महत्वपूर्ण चुनाव है। अगर मोदी व शाह फिर से आ गए तो राष्ट्र नहीं बचेगा।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleबेहद मुश्किल है भारतीय टीम का विश्वकप जीत पाना, इन 3 समस्याओं से है टीम परेशान
Next articleछिपकली का शरीर के किन अंगों पर गिरना माना जाता हैं शुभ और अशुभ, जानिए
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here