मिशन यूपी 2022 : प्रियंका कार्यकर्ताओं नियमित रूप से मिलेंगी

0
97

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं से हर हफ्ते तीन-चार बार मिलने का फैसला किया है।

वह यहां राहुल गांधी के आवास पर हर मंगलवार और गुरुवार को सुबह 10 बजे से अपराह्न् एक बजे तक कार्यकर्ताओं से मिला करेंगी।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ सूत्र ने आईएएनएस से कहा, “लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद से प्रियंका गांधी ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपने आवास पर मिलना शुरू किया था।”

कांग्रेस महासचिव पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी भी हैं। वह बीते दो हफ्तों में अपने और पार्टी अध्यक्ष भाई राहुल गांधी के आवास पर 150 से ज्यादा कार्यकर्ताओं से मिल चुकी हैं।

हालांकि पिछले हफ्ते जब वह मतदाताओं को धन्यवाद देने अपनी मां सोनिया गांधी (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन प्रमुख) के साथ उनके संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली गई थीं तो उस मौके पर उन्होंने कहा था कि वह राज्य में हर हफ्ते दो बार लोगों से मिलेंगी।

प्रियंका अन्य क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं से भी मिली थीं और उन्हें पार्टी उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने खातिर कड़ी मेहनत न करने के लिए फटकार लगाई थी। उन्होंने कहा था कि वह पार्टी और पार्टी नेताओं के कामकाज की समीक्षा करेंगी।

प्रियंका गांधी को 23 जनवरी को पार्टी महासचिव बनाया गया था और लोकसभा की 41 सीटों वाले पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था। आम चुनाव के दौरान उन्होंने 26 निर्वाचन क्षेत्रों में धुआंधार प्रचार किया था।

कांग्रेस हालांकि गांधी परिवार का गढ़ माने जाने वाली अमेठी सीट तक गंवा बैठी। यहां पार्टी प्रमुख राहुल गांधी को भारतीय नता पार्टी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने 55,000 मतों से हराया।

सूत्रों के मुताबिक, पार्टी कार्यकर्ताओं को पहले राहुल या प्रियंका से मिलने का समय नहीं मिल रहा था, लेकिन अब वे बिना पूर्व सम्मति के उनसे मिल सकेंगे। उन्होंने कहा कि प्रियंका का लक्ष्य है जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं से मिलकर उत्तर प्रदेश की जमीनी हकीकत को समझना, जहां कांग्रेस 1988 से ही सत्ता से बाहर है।

प्रियंका गांधी कार्यकर्ताओं से जानकारी लेकर पार्टी को मजबूत करेंगी। उन्होंने आम चुनाव के लिए प्रचार के दौरान ही कार्यकर्ताओं से 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू करने को कह दिया था।

सक्रिय राजनीति में कदम रखते ही प्रियंका ने पार्टी में नई जान फूंकने की कोशिश की थी। उन्होंने फरवरी में लखनऊ स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ ताबड़तोड़ बैठकें की थीं।

पार्टी के पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया भी फिर से सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने यहां सोमवार को और लखनऊ में शुक्रवार को समीक्षा बैठकें की थीं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleमोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की
Next articleभारत-पाक मैच को लेकर सट्टा बाजार 100 करोड़ के पार
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here