‘metromen’ श्रीधरन ने की राजनीतिक पारी की शुरुआत

0

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में देश में कमाल के प्रोजेक्ट करने वाले मेट्रोमेन के नाम से मशहूर ई.श्रीधरन के लिए गुरुवार का दिन उनके इंजीनियरिंग करियर का आखिरी दिन होगा। साथ ही वे इसी दिन से अपनी राजनीतिक पारी की भी शुरुआत करेंगे। 88 वर्षीय श्रीधरन अब भी अक्सर दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) की अपने ट्रेडमार्क यूनिफॉर्म पहन लेते हैं। उन्होंने पलारीवट्टोम फ्लाईओवर पर मीडिया से कहा कि इस क्षेत्र गुरुवार का दिन उनका अंतिम कार्य दिवस होगा। उन्होंने कहा, “जब हमें इस प्रोजेक्ट का काम सौंपा गया था, तो राज्य सरकार ने हमें इसे रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए 8 महीने का समय दिया था, लेकिन हमने इसे 5 महीने में ही पूरा कर लिया है। यह यूरालुंगल लेबर कोऑपरेटिव सोसायटी के काम के कारण संभव हो पाया। आज का दिन मेरे आधिकारिक करियर में आखिरी दिन होगा।”

ओमन चांडी के कार्यकाल में 42 करोड़ रुपये की लागत से बने 750 मीटर के इस फ्लाईओवर को लेकर माना जा रहा था कि यह करीब 100 साल तक चलेगा। लेकिन अक्टूबर 2016 में इसे उपयोग के लिए खोलने के 3 साल के अंदर ही इसकी सतह उखड़ने लगी थी और इसे बंद करना पड़ा था।

इसके बाद केरल सरकार ने इसके पुनर्निर्माण के लिए हरी झंडी दी और इस काम को डीएमआरसी को सौंपा। सितंबर 2020 में इसका काम डीएमआरसी ने शुरू किया और अब यह काम पूरा करने के साथ ही श्रीधरन अपने अधिकारिक करियर को अलविदा कह रहे हैं।

श्रीधरन ने कहा, “यह फ्लाईओवर अब राज्य सरकार को सौंप दिया जाएगा और वह तय करेगी कि इसे कब खोलना है।”

श्रीधरन से जब आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट से चुनाव लड़ने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “चूंकि अब मैं पोन्नानी (मलप्पुरम जिले) में रहता हूं, इसलिए मेरा अनुरोध इसके आस-पास की किसी सीट से चुनाव लड़ने का होगा। मेरा अभियान केवल प्रत्येक मतदाता से मिलने से का नहीं होगा, बल्कि मैं प्रत्येक मतदाता से मैसेज के जरिए बात करूंगा।”

पिछले महीने श्रीधरन ने भाजपा में शामिल होने के अपने फैसले की घोषणा करके सबको आश्चर्य में डाल दिया था। साथ ही वह विधानसभा चुनाव में मैदान में उतरने के लिए भी तैयार हैं।

न्यूज सत्रेत आईएएनएस

SHARE
Previous articleस्नैपड्रैगन 888 एसओसी से लैस होगा Realme GT 5G
Next articleIND VS ENG : 205 पर ढेर हुई इंग्लैंड, अक्षर ने लिए 4 विकेट
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here