महागठबंधन में एक बार और सीट शेयरिंग को लेकर मामला गरम

0

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा हो चुकी है और अब चुनाव शुरू होने में 1 महीने से भी कम का समय बचा है। ऐसी परिस्थितियों में महागठबंधन की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस ने राजद सम्मानजनक सीट देने पर टिप्पणी की है। इससे पहले रालोसपा ने पार्टी को सम्मानजनक सीट ना मिलने पर गठबंधन छोड़ने का संकेत दिया था।
कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमिटी के चेयरमैन अविनाश पांडे ने वीडियो से कहा है कि कांग्रेस बिहार विधानसभा चुनाव में कुल 243 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने के काबिल है और अगर राजद के साथ सीट शेयरिंग के मुद्दे पर संतोषजनक बात हुई तब महागठबंधन के साथ मिलकर बिहार विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।
सूत्रों की माने तो बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार राजद अकेले ही 150 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने के बारे में सोच रही है और कांग्रेस ने 70 से अधिक सीटों की मांग की है, ऐसे में अन्य घटक दलों को सीट देने में खासा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। महागठबंधन में सारी पार्टियां अधिक से अधिक सीट पर अपने उम्मीदवारों को लड़ाने की पूरी कोशिश कर रही हैं इसी बीच रालोसपा ने भी सीट कम मिलने पर राजद से नाराजगी जताई थी और महा गठबंधन से अलग होने के संकेत भी दिए थे।
महागठबंधन के अलावा एनडीए में भी सीटों को लेकर खींचातानी जारी है, इंडिया में एलजेपी नीतीश कुमार की जेडीयू से खासा नाराज नजर आ रही है और अपने लिए बिहार विधानसभा चुनाव में अधिक सीटों की मांग कर रही है, जिसके लिए एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा था। एलजेपी के कद्दावर नेता सूरजभान सिंह ने भी कम सीटें मिलने पर तीखा बयान दिया था, उन्होंने कहा था कि एलजेपी को दबाने की कोशिश की जाएगी तो उनका पलटवार बहुत घातक होगा हालांकि एलजेपी के प्रवक्ता ने इसे सुरजभान सिंह का व्यक्तिगत टिप्पणी बताई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here