अमेरिका सहित कई देश मानते है चीनी कर्ज को खतरनाक

0
107

जयपुर, चीन कई छोटे देशों को सहायता के नाम पर कर्ज दे रहा है पर कुछ देश चीन के इस कर्ज को खतरनाक मानते है उनका कहना है कि चीन की कर्ज देने की नीति साफ नहीं है। इसमें कई सारी छीपी हुई शर्ते है जो भविष्य में छोटे देशों के लिए मुसीबत बनेगी।इसे लेकर पूर्व अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने मार्च में कहा था कि अमरीका जिन देशों के साथ मिलकर काम करता हैImage result for रेक्स टिलरसन

वह उन देशों मे तरक्की कर उन्हें आत्म निर्भर बनाता है। जिससे वह एक सुनहरे कल की ओर अग्रसर होते है। लेकिन चीन जिन देशों को कर्ज़ देता है उसके साथ कई सारी शर्ते ऐसी होती है जिसका बाद में पता चलता है। यह चीन का कर्ज़ बर्बाद करने वाला होता है जो भ्रष्टाचार को बढ़ावा देता है।Image result for बंदरगाह

उन्होंने उदाहरण देते हए कहा कि चीन से पाकिस्तान, श्रीलंका, मंगोलिया, मोन्टेनेग्रो, लाओस, जिबुती, मालदीव, और कजाक्स्तान  ने बेशुमार कर्ज़ ले रखा है।वहीं दुनियां के अर्थशास्त्रियों का कहना है कि जिस तरह से चीन ने श्रीलंका के साथ किया है जिससे श्रीलंका को अपना मुख्य बंदरगाह हम्बनटोटा चीन को सौंपना पड़ा है। उसी तरह बाक़ी देशों को भी परिणाम भुगतना पड़ेगा।Image result for मलेशिया सरकार

चीन के कर्ज को लेकर ये कहा मलेशिया ने

एक सवाल का जवाब देते हुए महातिर मोहम्मद ने कहा था, हम विदेशी निवेश का स्वागत करते हैं। ज़ाहिर है चीनी निवेश का भी हम स्वागत करते हैं। लेकिन मामला यह है कि जब चीन के साथ कोई प्रोजेक्ट करने का प्लान करते है तो उनके कर्ज में दबने का बहुत डर होता है। क्योंकि चीन की ओऱ से जब अधिक पैसा लगाया जाएगा तो काम भी उनकी शर्तों पर ही होता है। काम करने वाली कंपनी भी उनकी ही होती है। जिनका भुगतान भी चीन में ही होता है। जिसमें हमारे हाथ में कुछ नहीं होता है और हम ऐसे निवेश को कभी स्वीकार नहीं करेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here