Malmaas 2020: कब से शुरू हो रहा मलमास, जानिए किन कामों को करने की है मनाही

0

पंचांग के मुताबिक इस साल मलमास लगने जा रहा हैं इसे अधिक मास या पुरुषोत्तम मास कहा जाता हैं यह तीन साल में एक बार आता हैं मलमास के पूज्य देव जगत के पालनहार भगवान श्री हरि विष्णु हैं इस कारण से इसे पुरूषोत्तम मास भी कहते हैं इस बर मलमास की शुरूवात 18 सितंबर से हो रही हैं जो 16 अक्टूबर तक रहेगी। उसके बाद 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि की शुरूवार होगी। तो आज हम आपको अपने इस लेख में बताने जा रहे हैं कि मलमास में कौन से कामों को करने की मनाही हैं तो आइए जानते हैं।

आपको बता दें कि मलमास के समय में भगवान श्री हरि विष्णु की आराधना करने का विधान होता हैं क्योंकि विष्णु ही इस मास के अधिपति देव हैं मलमास को पूजा पाठ, स्नान, दान आदि के लिए उत्तम माना गया हैं इसमें दान का पुण्य कई गुना बढ़ जाता हैं। आपको बता दें कि मलमास के समय में कोई भी मांगलिक कार्य जैसे कि ​शादी विवाह, मुंडन, उपनयन संस्कार, गृह प्रवेश आदि की मनाही होती हैं शुभ कार्य मलमास के समय में वर्जित होते हैं इस समय खरीदारी की कोई मनाही नहीं होती हैं। एक कथा के मुताबिक हर मास के लिए देवता निर्धारित हैं जब सूर्य और चंद्रमा के बीच संतुलन स्थापित करने के लिए मलमास प्रकट हुआ तो कोई भी देवता उसका अधिपति देव बनना स्वीकार नही किया। तब ऋषि मुनियोंने विष्णु जी से निवेदन किया। उनके निवेदन पर विष्णु भगवान मलमास के अधिपति देव बने। उनका एक नाम पुरुषोत्तम हैं उस आधार पर ही मलमास का नाम पुरुषोत्तम मास पड़ा।

SHARE
Previous articleSandalwood drug case : आदित्य अल्वा की संपत्तियों पर छापे
Next articleबच्चों में बढ़ती eye problem

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here