माल्या को मुंबई लाया जाएगा, आर्थर रोड जेल में रखा जाएगा

0

भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या को प्रत्यर्पित कर कभी भी भारत लाया जा सकता है। उसके खिलाफ मुंबई में मामला दर्ज है, इसलिए उसे मुंबई ही लाया जाएगा। जांच एजेंसियों के सूत्रों ने बुधवार को आईएएनएस को यह जानकारी दी। भगोड़े कारोबारी के साथ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी होंगे। उसका मुंबई एयरपोर्ट पर एक मेडिकल टीम स्वास्थ्य परीक्षण भी करेगी।

अगर माल्या रात में मुंबई में उतरता है, तो उसे शहर के सीबीआई कार्यालय में कुछ समय बिताना होगा। उसे बाद में दिन में अदालत में पेश किया जाएगा।

अगर माल्या दिन में भारत पहुंचेगा तो उसे एयरपोर्ट से सीधे कोर्ट ले जाया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि कोर्ट में सीबीआई और ईडी, दोनों एजेंसियां उसकी रिमांड की मांग करेंगी।

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन की अदालत ने अगस्त 2018 में माल्या की याचिका पर सुनवाई करते हुए भारतीय जांच एजेंसियों से उस जेल का विस्तृत ब्योरा मांगा था, जहां प्रत्यर्पण के बाद माल्या को रखा जाएगा। तब एजेंसियों ने मुंबई स्थित ऑर्थर रोड जेल की एक सेल का वीडियो ब्रिटेन कोर्ट को सौंपा था, जहां माल्या को भारत लाए जाने के बाद रखने की योजना है। एजेंसियों ने तब ब्रिटेन कोर्ट को आश्वस्त किया था कि माल्या को दो मंजिला ऑर्थर रोड जेल परिसर के अंदर बेहद सुरक्षित बैरक में रखा जाएगा।

ऑर्थर रोड जेल में अंडरवल्र्ड से जुड़े कई कुख्यात अपराधियों जैसे अबु सलेम, छोटा राजन, मुस्तफा दोसा को रखा जा चुका है। मुंबई हमलों को अंजाम देने वाले पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल कसाब को भी बेहद कड़ी सुरक्षा में इसी जेल में रखा गया था। वहीं, शीन बोरा हत्या मामले के आरोपी पीटर मुखर्जी और पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को 13,500 करोड़ रुपये का चूना लगाने वाला विपुल अंबानी भी इस जेल में रखा जा चुका है।

माल्या पर देश के 17 बैंकों का नौ हजार करोड़ रुपये बकाया है। वह दो मार्च, 2016 को भारत छोड़कर ब्रिटेन भाग गया था। भारतीय एजेंसियों ने ब्रिटेन की कोर्ट से माल्या के प्रत्यर्पण की अपील की और लंबी लड़ाई के बाद ब्रिटेन की अदालत ने 14 मई को माल्या के भारत प्रत्यर्पण की अपील पर मुहर लगा दी थी।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleमोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी माकपा
Next articleन्यूजीलैंड क्रिकेट के उप मुख्य कार्यकारी ने इस्तीफा दिया
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here