मकर संक्रांति 2020: इस दिन से पृथ्वी पर होता है शुभ दिनों का प्रारंभ, दान पुण्य का है विशेष महत्व

0

हिंदू धर्म में मकर संक्रांति के पर्व को विशेष महत्व दिया जाता हैं यह पर्व दान पुण्य और मोक्ष प्राप्ति का दिन माना जाता हैं मकर संक्रांति ऐसा त्योहार हैं जिसे भारत में विभिन्न रूपों में मनाया जाता हैं इस त्योहार को उत्तरायणी भी कहा जाता हैं किसान अच्छी फसल के लिए इस पर्व पर भगवान को धन्यवाद देते हैं वही ऐसा भी कहा जाता हैं कि मकर संक्रांति पर पृथ्वी पर अच्छे और शुभ दिनों का प्रारंभ हो जाता हैं। मकर संक्रांति का पर्व दान पुण्य का पर्व माना जाता हैं इस दिन पवित्र नदियों में स्नान, दान, और पूजा पाठ करने से विशेष फल की प्राप्ति होती हैं। इस त्योहार को सुख और समृद्धि प्रदान करने वाला माना गया हैं। इस पर्व पर तीर्थराज प्रयाग और गंगासागर में स्नान को महास्नान की संज्ञा दी गई हैं।

मकर संक्रांति के दिन जरूरतमंदों और गरीबों को दान करना जरूरी माना जाता हैं खिचड़ी का दान इस त्योहार पर विशेष रूप से फलदायी होता हैं। ऐसा कहा जाता हैं कि मकर संक्रांति के दिन यज्ञ में दिए गए द्रव्य को ग्रहण करने के लिए भगवान इस धरती पर अवतरित होते हैं। इस दिन तिल का दान करने की भी प्रथा हैं। मकर संक्रांति के दिन जल में लाल पुष्प और अक्षत डालकर सूर्य देवता को अर्घ्य अवश्य ही देना चाहिए। मकर संक्रांति पर सूर्यदेव की पूजा आराधना से जीवन में सुख शांति और समृद्धि का आगमन होता हैं इस दिन श्रीमद्भागवत गीता का पाठ करना भी शुभ और फलदायी माना जाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here