बहुसंख्यकवाद और अधिनायकवाद भारत को अंधेरे रास्ते पर ले जा रहा है: रघुराम राजन

0
92

जयपुर।  रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि बहुत संख्या वाद और अधिनायकवाद भारत को अंधकार में रास्ते पर ले कर जाएगा और आज वैसा ही भारत देश में हो रहा है, राजन ने संस्थाओं को कमजोर करने का आरोप भी केंद्र की सरकार पर लगाया है.

एक अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार बताया जा रहा है कि पिछले 9 अक्टूबर को अमेरिका के ब्राउन विश्वविद्यालय में ओ पी जिंदल लेक्चर के दौरान कहा कि बिना सोच-विचार के नोटबंदी लाने और बुरी तरीके से जीएसटी लागू करने के चलते भारत इस समय आर्थिक सुस्ती के दौर से गुजर रहा है. उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था बेहद चिंताजनक स्थिति में बनी हुई है वृद्धि दर काफी कम है और कर्ज का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है.

वही आपको बता दें कि पूर्व आरबीआई गवर्नर ने कहा कि सरकार की आर्थिक नीतियां टिकाऊ नहीं है और इसी के चलते लोकलुभावन नीतियों भारत को लैटिन अमेरिका के रास्ते पर ले कर जा सकती है रघुराम राजन ने देश की राजकोषीय घाटे को लेकर भी चिंता व्यक्त की है और कहा है कि बढ़ते राजकोषीय घाटा एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए एक बहुत ही चिंता करने वाला विषय है और यह उसे एक चिंताजनक स्थिति में ढकेल रहा है.

वही आपको बता दें कि उन्होंने कहा कि पिछले साल तक अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था में उल्लेखनीय स्तर पर सुस्ती सामने आई है वहीं साल 2016 की पहली तिमाही में विकास दर 9% तक रही थी जो अब घटकर 5.3% हो गई है.

वहीं रघुराम राजन ने कहा कि आर्थिक दृष्टिकोण की कमी की वजह से आज भारतीय अर्थव्यवस्था बहुत ही बुरे समय से गुजर रही है उन्होंने कहा कि दृष्टिकोण में अनिश्चितता थी और यही कारण है कि आज आर्थिक सुस्ती का कारण भारत को इसका सामना करना पड़ रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here