महिंद्रा लाइफस्पेस व टेरी का पहला उत्कृष्टता केंद्र शुरू

0
219

महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स लिमिटेड (एमएलडीएल) और एनर्जी एंड रिसोर्सेज इंस्टीट्यूट (टेरी) ने भारत में ऊर्जा कुशल अचल संपत्ति उद्योग को बढ़ावा देने के लिए पहले उत्कृष्टता केंद्र (सीओई) की शुरुआत की। यह केंद्र भारत में हरित भवनों को बढ़ावा देने के लिए अत्याधुनिक शोध तकनीक, उपकरण और कामकाज का आकलन करने के उपाय तैयार करने की दिशा में काम करेगा। उत्कृष्टता केंद्र का उद्देश्य बाजार में उपयोग के लिए तैयार, मापनीय और ऊर्जा कुशल सामग्री और तकनीक के लिए एक मजबूत और सुसंगत डाटाबेस विकसित करना है। यह हरित विकास को बढ़ावा देने के लिए केंद्र और राज्य के मंत्रालयों के लिए नीति तैयार करने की दिशा में भी काम करेगा, जो भारत के अचल संपत्ति उद्योग में बदलाव ला सकती है और इस प्रकार देश में कार्बन उत्सर्जन की समस्या से निपटने में भी मदद मिल सकती है।

अचल संपत्ति और भवन निर्माण सामग्री उद्योगों को डाटाबेस, दिशा निर्देश और मापदंड उपलब्ध कराने से पूर्व शोध के निष्कर्षों को व्यावहारिक तौर पर परखा जाएगा। यह प्रयास किया जाएगा कि शोध के निष्कर्षों या उत्पादों और सिफारिशों का डेवलपर, वास्तुकार और व्यक्तिगत भवन निमातर्ा बड़े पैमाने पर उपयोग करें। शोध के निष्कर्ष सार्वजनिक डोमेन पर उपलब्ध रहेंगे।

उत्कृष्टता केंद्र का उद्घाटन करते हुए महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने कहा, “भारत के पास यह मौका है कि वह चीजों को अभिनव तरीके से करने वाली विश्व की सबसे बड़ी प्रयोगशाला बन सके, चाहे शहरीकरण के भविष्य की बात हो या गतिशीलता की या फिर जलवायु परिवर्तन की।”

उन्होंने कहा कि महिंद्रा और टेरी का यह उत्कृष्टता केंद्र व्यावसायिकता से आगे बढ़कर स्थिरता पर ध्यान केंद्रित करता है। बृहद शहरी साझेदारी वाला एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाने में यह भारत के शहरों एवं कस्बों को ‘हरित स्वरूप’ में परिवर्तित करने की क्षमता प्रदान करेगा।

वहीं, टेरी के महानिदेशक अजय माथुर ने भारत की जलवायु के अनुरूप कम लागत वाली, हरित लेकिन ऐसी सस्ती प्रौद्योगिकी और सामग्री तैयार करने की जरूरत पर बल दिया, जो आराम भी ज्यादा दे और जिसमें ऊर्जा की खपत भी कम हो।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleकलंक में आलिया के मुकाबले इस रोल में नजर आएंगी सोनाक्षी सिन्हा जाने खबर
Next articleआकाशगंगाओं की टक्कर में निकलती है तेज रोशनी
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here