महावीर जयंती कल: जानिए महत्व और भगवान महावीर स्वामी के अनमोल विचार

0
58

आपको बता दें,कि महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वें तीर्थकार माने जाते हैं वही जैन समुदाय के लिए महावीर जयंती का बहुत ही विशेष महत्व होता हैं। बता दें,कि महावीर स्वामी का जन्म चैत्र मास के शुक्ल त्रयोदशी तिथि पर मनाया जाता हैं यह पर्व जैन समुदाय द्वारा भगवान महावीर के जनम की खुशी में मनाया जाता हैं। वही पंचशील सिद्धान्त के प्रर्वतक और जैन धर्म के 24वें तीर्थकर महावीर अहिंसा के प्रमुख ध्वजवाहकों में से एक हैं।

वही आपको बता दें,कि महावीर जयंती का पर्व कठिन तपस्या से जीवन पर विजय हासिल करने का पर्व माना जाता हैं,वही महावीर जयंती पर जैन मंदिरों में भगवान महावीर की मूर्ति का खास तौर पर अभिषेक किया जाता हैं। वही हम आपको बताने जा रहे हैं, महावीर स्वामी के अनमोल विचारों के बारे में तो आइए जानते हैं,कि वो कौन से हैं।

जानिए भगवान महावीर स्वामी के अनमोल विचार—
आपकी आत्मा से परे कोई भी शत्रु नहीं हैं। असली शत्रु अपने भीतर रहते हैं वे शत्रु हैं लालच,द्वेष,क्रोध, घमंड और आसक्ति और नफरत।

मनुष्य के दुखी होने की वजह खुद की गलतिया ही हैं, जो मनुष्य अपनी गलतियों पर काबू पा सकता हैं वही मनुष्य सच्चे सुख की प्राप्ति भी कर सकता हैं।

महावीर हमें स्वयं से लड़ने की प्रेरणा देते हैं वे कहते हैं स्वयं से लड़ो, बाहरी दुश्मन से क्या लड़ना जो स्वयं पर विजय प्राप्त कर लेता हैं उसे ही आनंद की प्राप्ति होगी।

आत्मा अकेले आती है अकेले चली जाती हैं, न कोई उसका साथ देता है न कोई उसका मित्र बनता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here