Magh month: 29 जनवरी से होगी माघ महीने की शुरुआत, जानिए स्नान दान का महत्व

0

हिंदू धर्म में वैसे तो सभी महीनों को विशेष महत्व दिया जाता हैं लेकिन माघ का महीना खास होता हैं 29 जनवरी ​दिन शुक्रवार स माघ महीने का शुभारंभ हो रहा हैं यह महीना 27 फरवरी 2021 तक रहेगा। पंचांग के मुताबिक यह 11वां महीना होता हैं इस महीने में स्नान और दान का महत्व बहुत अधिक हो जाता हैं इसे शुभ माना गया हैं अगर माघ महीने में किसी पवित्र नदी में स्नान किया जाए तो जातक को हर पाप से मुक्ति मिल जाती हैं इस महीने में स्नान और दान का विशेष महत्व होता हैं तो आज हम आपको इस मास से जुड़ी जानकारी और स्नान दान के महत्व को बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं। धर्मराज युधिष्ठिर ने महाभारत युद्ध के दौरान उनके जितने भी रिश्तेदार मारे गए थे उन्हें सदगति दिलाने के लिए कल्पवास किया था। उन्होंने यह मार्कण्डेय ऋषि के कहने पर किया था। इसके अलावा गौतमऋषि ने इंद्रदे को श्राप दिया था जिससे उन्हें मुक्ति तब मिली थी जब उन्होंने माघ स्नान किया था। केवल यही नहीं माघ महीने के धार्मिक अनुष्ठान के फलस्वरूप प्रतिष्ठानपुरी के नरेश पुरुरवा को भी उनकी कुरूपता से मुक्ति तब मिली थी जब उन्होंने माघ मास में स्नान किया था। ऐसी मान्यता है कि माघ मास में जो पवित्र नदियों में स्नान करता है उसे सकारात्मक शक्ति का संचार प्राप्त होता हैं साथ ही वह निरोगी भी बना रहता हैं।

माघ के महीने में जो लोग भगवान जगदीश्वर की पूजा अर्चना करते हैं उसे मोक्ष की प्राप्ति होती हैं इस दौरान भक्तों को पवित्र नदी में स्नान करते समय सूर्य मंत्र का उच्चारण करना चाहिए और सूर्य देवता को जल अर्पित करना चाहिए। सूर्य भगवान की पूजा करने से जातक सभी परेशानियों से मुक्त होकर सुख पूर्वक जीवन व्यतीत करता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here