क्या 1400 प्रकाश वर्ष दूर धरती जैसे ग्रह पर जीवन संभव हो सकता है

0
60

जयपुर। ब्रह्मांड में कई ग्रर्ह ऐसे है जो धरती के जैसे है लेकिन इनमें से कई तो धरती के जैसे दिखाई देते है तो कई धरती से थोड़ा अलग वातावरण रखते है लेकिन वैज्ञानिक सटिक ढंग से नहीं कह सकते है कि यह ग्रह धरती जैसे ही है और इस पर इंसान आसानी से रह सकता है। यह किसी भी ग्रह के लिए नहीं कहा जा सकता है। जानकारी के अनुसार पृथ्वी से सर्वाधिक समानता वाला ग्रह केप्लर-452b है। इस ग्रह की जानकारी हमे केप्लर अंतरिक्ष वेधशाला से ज्ञात हुई थी और अंतरिक्ष की गहराईयो मे ग्रहो की खोज मे लगा हुआ है।

बता दे कि केप्लर-452 तारा सूर्य के जैसा तारा है और ब्रह्माण्ड मे हमसे 1400 प्रकाश वर्ष की दूरी पर है और वैज्ञानिक बताते है कि इस तारे की सतह का तापमान हमारे सूर्य के जैसा है और इस तारे की ऊर्जा उत्पादन की दर भी सूर्य के समान है। वैज्ञानिक ने जानकारी दि कि यह सूर्य तथा केप्लर-452 दोनो तारे पीले रंग के G वर्ग के सामान्य तारे है। इसका मतलब है कि केप्लर-452 तारे का जीवन योग्य क्षेत्र भी सूर्य के समान ही हो सकता है। खगोलविदों ने बताया कि इस ग्रह से अगर कोई तारा कम दूरी पर रहेगा तो उसका पानी वह भाप बनकर उड़ जायेगा और ज्यादा दूरी पर बर्फ़ के रूप मे जम जायेगा।

जैसे की हमें पता है कि जीवन के द्रव जल सबसे ज्यादा आवश्यक पदार्थ है। केप्लर-452 के जीवन योग्य क्षेत्र मे केप्लर-452b ग्रह उपस्थित है माना जा रहा है कि यह स्थिति सौर मंडल मे पृथ्वी की उपस्थिति के समान है। इसको निरीक्षण से त्रात हुआ है कि केप्लर-452b के वर्ष की अवधि भी पृथ्वी के समान ही है और इस ग्रह को मिलने वाली ऊर्जा भी पृथ्वी के समान ही है पृथ्वी की तुलना मे 10% अधिक ऊर्जा प्राप्त करता है। इस ग्रह की कक्षा 385 दिन की है और हमारी पृथ्वी की कक्षा 365 दिन की है तो इतनी चीज़े समान है तो हो सकता है कि इसपर जीवन संभव है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here