सूर्य की रोशनी से चलने वाली भारत की पहली ट्रेन लॉन्च, रेलवे को होगा फायदा ही फायदा

0
201
dmeu train launch

नई दिल्ली। डीजल इलेक्ट्रिक मल्टिपल यूनिट ट्रेन को दिल्ली के सफदरजंग से रवाना किया गया। आप सोच रहे होंगे कि इस DEMU ट्रेन का लांच करना सरकार के लिए कौन सी बड़ी बात है। लेकिन जानकारी के लिए आप को बतादें कि शुक्रवार को लांच होनी वाली यह DEMU ट्रेन भारतीय रेलवे के इतिहास में ऐसी पहली ट्रेन है जो सौर ऊर्जा से चलेगी। इस ट्रेन के चलने से ना केवल रेलवे का खर्चा घटेगा बल्कि प्रदूषण भी नाम मात्र का होगा।

गौरतलब है कि शक्रवार को सुरेश प्रभु ने भारत की इस पहली DEMU ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। इस DEMU ट्रेन में कुल दस कोच लगे है। जिनमें आठ कोच की छतों पर 16 सोलर पैनल लगाए गए हैं। हर पैनल करीब 300 वॉट बिजली उत्पादित करेगा।

जानकारी मिली है कि इससे हर साल करीब 21000 लीटर डीजल की बचत होग। अगले कुछ दिनों में ऐसे ही 50 अन्य कोचेज में भी सोलर पैनल बनाने की तैयारी चल रही है।

जरूर पढ़ें : खुलासा : …तो इनसे मिलने बार-बार विदेश जाते हैं राहुल गांधी, वीडियो भी देखें

रेलमंत्री सुरेश प्रभु का कहना है कि इंडियन रेलवे इस गैर परंपरागत तरीके से एक लंबी छलांग लगा सकता है। 1600 हॉर्स पॉवर वाली इस DEMU ट्रेन को चेन्नई में तैयार किया गया है। जब कि इंडियन रेलवेज ऑर्गेनाइजेशन ऑफ अल्टरनेटिव फ्यूल ने सोलर पैनल को तैयार कर इस DEMU ट्रेन की छतों पर लगाया है। अब इस DEMU ट्रेन में डीजल जनरेटर की कोई आवश्यकता नहीं होगी।

रेलवे का कहना कि इस DEMU ट्रेन की छतों पर जो सोलर पैनल लगाए है उनकी लाइफ लाइन 25 साल है। इन सोलर पैनल के माध्यम से रेलवे लाखों रूपए की बचत करेगा और प्रदूषण से भी मुक्ति मिलेगी। इस DEMU ट्रेन के एक बार फुल चार्ज होने पर यह दो दिनों तक चलेगी। इस DEMU ट्रेन में कुल दस कोच लगे हैं जिसके प्रत्येक कोच में कुल 89 लोगों के बैठने की व्यवस्था है।

बिजनेस से जुड़ी खबरों की लेटेस्ट जानकारी पाएं हमारे FB पेज पे.

अभी LIKE करें – समाचार नामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here