कोविड-19 : भारत में आंकड़ा 2 लाख के पार, 9 हजार के पास दैनिक मामले

0

भारत में लगभग 9 हजार नए मामलों के साथ ही कोरोनावायरस महामारी से संक्रिमत हुए लोगों का आंकड़ा बढ़कर दो लाख सात हजार के पार पहुंच गया है, वहीं मरने वालों की संख्या भी पांच हजार के पास पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थय मंत्रालय ने बुधवार को नवीनतम आंकड़े जारी करते हुए कहा, “देश में पिछले 24 घंटों में 8 हजार 909 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद से यहां कोविड-19 संक्रमण से संक्रमित होने वालों का आंकड़ा बढ़कर 2 लाख 7 हजार 615 हो गया है। वहीं, कुल 217 नई मौतें दर्ज की गईं हैं।”

विश्व में कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित हुए देशों की सूची में भारत का स्थान अब सातवां हो गया है। इस सूची में भारत केवल इटली से सिर्फ 25 हजार मामले पीछे है।

सामने आए कुल मामलों में से 1 लाख 01 हजार 497 लोग वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण से ग्रस्त हैं, जबकि उपचार के बाद पूर्ण रूप से स्वस्थ हुए 1 लाख 303 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। देश में महामारी की चपेट में आकर 5 हजार 815 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

देश में महामारी के संदर्भ में रिकवरी रेट 48.31 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 2.8 प्रतिशत।

देश के अन्य राज्यों की तुलना में सर्वाधिक कुल 72 हजार 300 मामलों के साथ महाराष्ट्र सबसे अधिक प्रभावित है। इसके बाद 24 हजार 586 मामलों के साथ तमिलनाडु और 22 हजार 132 मामलों के साथ दिल्ली का स्थान है।

महाराष्ट्र में ही सबसे अधिक मौतें हुईं हैं। राज्य में महामारी के कारण 2 हजार 465 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद गुजरात, दिल्ली और मध्य प्रदेश में क्रमश: 1 हजार 92, 556 और 364 मौतें हुईं हैं।

पांच हजार से अधिक मामलों की रिपोर्ट करने वाले राज्य मध्य प्रदेश (8 हजार 420), राजस्थान (9 हजार 373), उत्तर प्रदेश (8 हजार 361) और पश्चिम बंगाल (6 हजार168) शामिल हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि भारत कोविड-19 महामारी के पीक केसेज (अधिक मामलों) से बहुत दूर है। आईसीएमआर (भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद) की अधिकारी निवेदिता गुप्ता ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “हम महामारी के पीक (शिखर) से बहुत दूर हैं। बीमारी पर अंकुश लगाने के हमारे निवारक उपाय बहुत प्रभावी हैं और हम अन्य देशों की तुलना में बेहतर स्थिति में हैं। हफ्ते भर में आपको डेटा देखने को मिलेगा।”

आईसीएमआर के अनुसार, भारत में अब तक 41 लाख 3 हजार 233 टेस्ट किए जा चुके हैं और अकेले पिछले 24 घंटों में 1 लाख 37 हजार 158 नमूनों की जांच की गई है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleमध्य प्रदेश कांग्रेस में राज्यसभा की सीट के लिए द्वंद
Next articleजॉर्ज फ्लॉयड के लिए हयूस्टन में शांतिपूर्ण रैली आयोजित
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here