महान पिरामिड का ये सच जानकर रह जायेंगे हैरान

0
30

जयपुर। प्राचीन मिस्र के पिरामिड सारी दुनिया में प्रसिद्ध है ये तकरीबन 4,000 साल पहले बनाये गये थे। वैज्ञानिक इनके बारे में कई बरसों से अध्ययन कर रहे हैं क्योंकि इनका मानना है कि ये विशाल मकबरे रहस्यों से भरे हुये हैं। कई की वास्तुशास्त्रियों तथा शोधकर्ताओं के लिये अब तक एक अनसुलझी पहेली है। आपको बात दे कि मिस्र में स्थित महान गीज़ा पिरामिडों का निर्माण 2560 ईसा पूर्व में किया गया था ये लगभग 4500 सालों के इतिहास में मिस्र में गीज़ा के पिरामिडों के राज़ को जानने के लिये कई अभियान चलाए हैं

लेकिन फिर भी इसका राज़ नहीं खोल पाये। लोगों का मानना है कि इन पिरामिडों का निर्माण मिस्र के प्राचीन सम्राट खुफू ने करवाया था। शोधकर्ताओं ने इस पिरामिड के रहस्य उजागर करने का दावा किया है। आपको बता दे कि वैज्ञानिको ने मिस्र के गीज़ा पिरामिड में एक गुप्त कमरा खोजा है जिसको स्कैन पिरामिड बिग वॉइड नाम दिया है। साल 2015 में मिनिस्ट्री ऑफ एंटीक्विटीज, मिस्र ने कई संगठनों के साथ मिलकर गीज़ा के पिरामिडों में खोजा एक खुफिया जगह को जिसे मिशन स्कैन मिरामिड नाम दिया गया।

जानकारी देदे कि  इस अभियान में इंफ्रारेड थर्मोग्राफ्री, थ्रीडी स्कैन्स विद लेजर और कॉस्मिक रे डिटेक्टर का कई महीनों तक इस्तेमाल किया था। वैज्ञानिकों बताया की पिरामिड में नीचे की तरफ जाने वाले तंग रस्ते तथा पिरामिड के मुख्य दरवाज़ें पर विशेष प्रकार के डिटेक्टर लगाये गये थे। आपको बता दे कि लगभग 4500 साल पहले बनी गीज़ा के पिरामिड 3800 वर्षों तक विश्व की सबसे ऊंची मानव निर्मित आकृति के रूप में जाना गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here