विश्व महासागर दिवस 2018: आखिर क्यों मनाया जाता है विश्व महासागर दिवस, कब हुई थी शुरुआत

0

दुनियाभर के देश पानी के सबसे बडे स्रोत महासागरों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए 8 जून को विश्व महासागर दिवस मनाते हैं। इस दिन को सबसे पहले 8 जून 2009 में मनाया गया औऱ अब प्रतिवर्ष इस दिन पर वैज्ञानिक महासागरों का वर्तामन स्थिति औऱ सुधार के प्रति लोगों को जागरुक करते हैं। कई संस्थाएं इस दिन जागरुक अभियान भी चलाती हैं।

कब हुई शुरुआत

जानकारी के लिए बता दें कि विश्व महासागर दिवस साल 1992 में रियो डी जनेरियो में आयोजित ”पृथ्वी ग्रह” नामक फोरम में प्रतिवर्ष मनाए जाने के लिए प्रस्तावित किया गया था। और इस दिन विश्व महासागर दिवस हमेशा मनाए जाने की घोषणा भी की गई थी। लेकिन संयुक्त राषट्र संघ ने इससे संबंधित प्रस्ताव को  2008 में पारित किया था औऱ इस दिन को आधिकारिक मान्यता प्रदान की थी।

क्या है महत्व

विश्व महासागर दिवस मनाए जाने के पीछे सिर्फ महासागरों के प्रति जागरुकता फैलाना नहीं है बल्कि दुनियाभर में महासागरों के महत्व और भविष्य में इनके सामने खडी चुनौतियों से भी अवगत करवाया जाता है। इतना ही नहीं, इस दिन कई महासागरीय पहलू जैसे-खाद्य सुरक्षा, जैव-विविधता, पारिस्थितिक संतुलन,सामुद्रिक संसाधनों के अंधाधुंध उपयोग, जलवायु परिवर्तन आदि पर प्रकाश डालना है।

क्यों होता है आयोजन

प्रतिवर्ष विश्व महासागर दिवस के अवसर पर दुनियाभर के देशों में महासागरों से संबंधित विषयों पर कई प्रकार के आयोजन किए जाते हैं। इनका उद्देश्य महासागर को लेकर सकारात्मक अैर नकारात्मक पहलुओं को सबसे सामने प्रदर्शित करना और लोगों में इसके प्रति जागरूकता फैलाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here