जानिए आजाद होने के बाद भारत में कितनी मंहगाई थी? कितने पैसे की होती थीं चीजें

0
103

जयपुर। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कुछ ही दिनों में भारत अपनी आजादी का 72 वां जश्न मनाने जा रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत ने 200 साल तक अंग्रेजों का अत्याचार सहा था। तथा 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। तथा इस दिन को हर साल भारत में धूम धाम से मनाया जाता है।

लोग इस दिन आजादी का जश्न मनाते हैं तथा मिठाइयां बांटी जाती है। आज हम आप को देश के उन हालातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सामना भारत को आजादी के बाद करना था। जैसा की आप सब जानते हैं कि पिछले कुछ सालों से महंगाई आसमान छू रही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि देश के आजाद होने पर कितनी महंगाई थी तथा चीजें कितनी कीमत में मिलती थी। आज हम आपको इस आर्टिकल में आजादी के समय की कीमतें बताने जा रहे हैं कि कौन सा चीज कितने दामों में मिलती थी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत की आजादी के समय 1 चीजें काफी ज्यादा सस्ती थी। उस समय गरीब से गरीब इंसान भी अपनी जरुरती की चीजों को खरीद सकता था। तथा अपनी जरुरतें पुरी कर सकता था।
1 आपको बता दें कि आजादी के समय चावल 65 पैसे प्रतिकिलो मिलते थे।
2 देश की आजादी के समय चीनी का भाव 57 पैसे प्रतिकिलो था।
3 देश की आजादी के समय मुंबई में विक्टोरिया नाम की एक टुक टुक घुड़सवारी से 1.5 किमी आने जाने पर मात्रा 1 आना लिया जाता था।
4 आपको बता दें कि देश की आजादी के समय मुंबई से अहमदाबाद तक की हवाई यात्रा के लिए महज 18 रूपये की टिकिट लगता था।
5 उस समय तैनाली-रामा जैसी किताब की कीमत मात्रा 1.5 रुपये की हुआ करती थीं
6 देश की आजादी के समय समय फिल्म की टिकिट महज 40 पैसे से लेकर 8 आने तक की होती थी।


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देश की आजादी के समय सन् 1947 में लोगों की अधिकतम आय 150 रुपसे तक होती थी। तथा लोग इन पैसों में अपनी सारी जरुरतें आसानी से पूरी कर लेते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here