जानिए क्यों लगाया जाता हैं माथे पर तिलक और क्या है सौभाग्य से इसका नाता

0
41
tilak and rituals
tilak on forehead

​हिंदू धर्म की परंपरा में किसी भी पूजा अर्चना या फिर शुभ मांगलिक कार्यों में तिलक लगाना बहुत ही शुभ माना जाता हैं वही यह परंपरा भी हैं। वही मंदिर में भगवान के दर्शन के बाद भी भक्तों के माथे पर तिलक प्रसाद के रूप में लगाया हैं। वही आपको बता दें,कि माथे पर लगाए जाने वाले तिलक के पीछे न केवल धार्मिक आस्थ हैं बल्कि इससे जुड़े कुछ वैज्ञानिक आधार भी शामिल हैं, जिनके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं कि वो कौन से हैं

बता दें,कि साधु संत अपनी साधना आराधना की शुरूवात करने से पहले ही अपने माथे पर तिलक या फिर त्रिपुण्ड अवश्य ही लगाते हैं क्योंकि इसी जगह पर आज्ञा चक्र में उपस्थित पिण्ड में जुड़ी सभी नाड़ियों का समूह होता हैं ऐसे में इस तरह से करने से मन बहुत ही शांत बना रहता हैं और व्यक्ति में एकाग्रता बढ़ जाती हैं। वही भोदों के बीच माथे पर तिलक लगाया जाता हैं। वह अग्नि चक्र कहलाता हैं इस भाग को थर्ड आई भी कहा जाता हैं। क्योंकि यही आपके शरीर में शक्ति का संचार होता हैं। यही एक वजह से कि जिस कारण महिलाएं भी अपने माथे पर बिंदी इसी स्थान पर लगाती हैं। वही जिस जगह पर तिलक लगाने से मनुष्य के अदंर आत्मविश्वास बढ़ जाता हैं। वही तिलक का भगवपन का प्रसान माना जाता हैं जिसे माथे पर लगाने से भगवान की कृपा भी प्राप्त होती हैं और साथ ही साथ मनुष्य के सुख और सौभाग्य में भी वृद्धि हो जाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here