जानिएं भारत के इन गाँवों के बारें में जो किसी शहर से कम नहीं हैं

भारत को गाँव का समबह कहा जाता हैं क्योंकि यहां पर कई सारे अलग अलग गाँव बसे हुएं हैं और सब अपनी अपनी खासीयतों के लिए मशहूर हैं।

0

जयपुर। भारत को गाँव का समबह कहा जाता हैं क्योंकि यहां पर कई सारे अलग अलग गाँव बसे हुएं हैं और सब अपनी अपनी खासीयतों के लिए मशहूर हैं। गांवों के नाम दिमाग में आते हैं, कच्ची सड़कें, पुरानी रहने की स्थिति जैसी चीजें दिमाग में आ रही हैं। लेकिन देश में कुछ गांव ऐसे हैं जो आपकी सोच बदल सकते हैं। क्योंकि देश के ये गाँव अपनी सुंदरता और विकास के लिए जाने जाते हैं और यहाँ का जीवन शहरी जीवन से आगे है। तो आइए जानते हैं इन गांवों के बारे में –

पोथनिक्कड़, केरल – केरल का यह गाँव एक आसा गाँव है जहाँ पर सदियों पुरानी परंपरा और संस्कृति को आप अभी भी देखी सकते । आपको जानकर हैरानी होगी कि इस गांव में शिक्षा का स्तर 100 प्रतिशत है यानी यहां पर हर व्यक्ति पढा लिखा हैं।

मैविलॉन्ग, मेघालय – खूबसूरती के मामले में यह गांव बहुत मशहूर हैं। सन् 2003 में इस गांव को एशिया के सबसे स्वच्छ गांव से सम्मानित किया गया था। आप यहां आकर्षक पुल और झरने के साथ-साथ स्वादिष्ट स्थानीय भोजन का भी लुत्फ उठा सकते हैं।

सत शिंगणापुर, महाराष्ट्र – शनि शिंगणापुर गाँव में कोई पुलिस स्टेशन नहीं है। यह गांव दुनिया का सबसे सुरक्षित गांव माना जाता है। इस गांव में किसी भी व्यक्ति के घर में दरवाजा नहीं है।

पुंसरी, गुजरात – इस गांव में सीसीटीवी कैमरे और वाईफाई सुविधाएं उपलब्ध हैं। पुंसरी गाँव में, शहरों की तरह सभी सुख-सुविधाएं पाई जाती हैं। इस गांव की खूबसूरती भी आपका मन मोह लेगी।

 धरनई, बिहार – धरनई गांव में बिजली की कोई सुविधा नहीं थी। इस समस्या को हल करने के लिए, गाँव के लोगों ने खुद ही बिजली का उत्पादन सॉयर पावर यानी सॉर्ज के साथ करना शुरू कर दिया। यह भारत का पहला गाँव है जो सौर ऊर्जा से चलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here