Malmaas 2020: अधिकमास में क्या करें और किन चीजों से रखें परहेज, जानिए यहां

0

18 सितंबर दिन शुक्रवार यानी की आज से अधिकमास शुरू हो चुका हैं यह महीना 32 महीने 16 दिन और चार घटों के बाद आता हैं इसे अधिकमास के साथ साथ मलमास, मलिम्लुच मास और पुरुषोत्तममास के नामों से जाना जाता हैं मान्यताओं के मुताबिक कुल मिलाकर 12 महीनों में वरुण, सूर्य हिरण्यरेता, दिवाकर, भानु, तपन, चण्ड, रवि, गभस्ति, अर्यमा, मित्र और विष्णु 12 मित्र कहलाते हैं वही इनमें से अधिक मास सबसे अलग माना जाता हैं इस वर्ष अधिक मास आने की बात करें तो इस बार यह महीना आश्विन मास की 18 तिथि को शुरू हो 16 अक्टूबर तक चलेगा। इन दिनों में बहुत से ऐसे काम होते हैं जिन्हें नहीं करना चाहिए ऐसे में इस महीने को कुछ लोग अशुभ भी मानते हैं मगर इस माह को भगवान विष्णु का प्रिय महीना कहा जाता हैं इस दौरान कुछ काम नहीं किए जाते हैं। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि इस पूरे महीने में क्या करना और क्या नहीं करना चाहिए तो आइए जानते हैं।

आपको बता दें कि अधिकमास में विवाह करने की सख्त मनाही होती हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस पूरे महीने विवाह करने से वैवाहिक जीवन सुखमय नहीं होता हैं ऐसे में रिश्ता अधिक दिनों तक नहीं टिकता हैं। वही जैसे कि पहले की कहा गया है कि इस दौरान शुभ कामों को करने से बचना चाहिए। ऐसे में कोई भी नया काम व कारोबार मलमास से पहले या बाद में ही शुरू करना चाहिए वरना कारोबार बेहतर नहीं चलता हैं साथ ही धन से जुड़ी समस्याएं भी आती हैं इसके अलावा किसी भी जगह में निवेश करने से भी बचना चाहिए।

अधिकमास में कोई भी मांगलिक कार्य नहीं करना चाहिए शादी विवाह के साथ मुंडन, नया घर खरीदना व गृह प्रवेश, धन निवेश, लेन देन, कोई भी नई चीज खरीदना आदि की मनाही होती हैं ऐसा कहा जाता है कि इस समय इनमें से कोई काम को करने से भविष्य में हानि होने का सामना करना पड़ सकता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here