ये अन्धविश्वास जो आज भी हमारा पीछा नहीं छोड़ते और हमें बर्बाद कर रहे हैं!

0
69

जयपुर। अन्धविश्वास के चलते हम में से कई लोगो को नुकसान झेलना पड़ता है। अंधविश्वास भारते में ही नहीं बल्की अन्य देशों में भी माना जाता है। कई बातों तो बचपन से ही हमारे दिमाग में भर दिये जाते हैं कि फंला काम करते समय फंला होने से काम में सफलता को लेकर संदेह रहता है।

अंधविश्वास ऐसा फैला है कि जिसने हमारे दिमाग को पूरी तरह से अपने गिरफ्त मे लेकर रखा है। इस अन्धविश्वास के कारण हमें कई बार अपना नुकसान भी झेलना पड़ता है। अंदविश्वास की रूढ़िवादी विचारधारा से निजात पाना बहुत ही मुश्किल हो गया है।

आज हम इस लेख में अन्धविश्वास के कुछ ऐसे कारण के बारे में बात रहें हैं जिनसे भविष्य में कई सारी परेशानी आती है। इसके साथ ही अंधविश्वास कई बार कठिनाई का कारण बनता है। जिसके कारण भविष्य में कई सारी परेशानी आती है।

  • अक्सर हमारा मानना होता है कि अगर कोई काली बिल्ली रास्ता काट जाए तो ऐसा होने पर कुछ बुरा घटता है। इसके साथ ही ऐसा माना जाता है कि जिस काम से घर से निकले हैं उस काम के सफल होने में संदेह रहता है।
  • अक्सर कई लोगो का मानना है कि खुली छत पर रात के समय सफ़ेद कपड़े नहीं सुखाने चाहियें, इसके कारण घर में नेगेटिव एनर्जी का प्रवेश होता है।

  • कई लोगो का मानना है कि अगर किसी जरुरी काम से घर से बाहर जा रहे हैं या किसी दूर की यात्रा पर जा रहें हैं तो ऐसे में अगर कोई पीछे से छींक देता है तो काम के पूरा होने मे संदेह रहता है, इसके साथ ही कई लोगो का मानना है की यात्रा के लिए अगर घर से निकलते समय कोई छींक दे तो यात्रा पर जाना टाल देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here