नवरात्रि के 9 दिनों में चढ़ाएं अलग-अलग भोग, खुश हो जाएंगी मां दुर्गा

0
159

जयपुर। नवरात्रि में देवी की पूजा अर्चना के साथ साथ देवी को चढने वाला भोग भी बेहद अहमियत रखता है। अगर हम देवी को देवी के स्वरुप के आधार पर भोग लगाते है। आज इस लेख में हम नवरात्रि के नौ दिन के आधार पर नौ दिन के भोग के बारे में बता रहें है। देवी को प्रसन्न करने के लिए अगर देवी के इनका भोग लगाएंगे तो देवी प्रसन्न होगी।

नवरात्रि में देवी के नौ स्वरुप शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा,कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। देवी को प्रसन्न करने के लिए देवी के नाम और दिन के आधार पर भोग चढाना चाहिए। आज इस लेख में किस दिन कौन सा भोग देवी को अर्पित करना शुभ रहेंगा इस बारे में बता रहें हैं।

  • नवरात्रि के पहले दिन देवी शैलपुत्री की पूजा की जाती है इसलिए इसदिन मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना कर उन्हें शुद्ध देसी घी का भोग चढ़ाएं।
  • नवरात्रि के दूसरे दिन देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है इसलिए इस दिन मां ब्रह्मचारिणी को फल और बतासे का भोग चढ़ाएं।

  • नवरात्रि के तीसरे दिन देवी चंद्रघंटा की पूजा की जाती है तो इसदिन देवी को दूध से बनीं चीजों का भोग चढ़ाना चाहिए।
  • नवरात्रि के चौथे दिन देवी कुष्मांडा की पूजा की जाती है इसलिए इस दिन मीठे मालपुआ का भोग चढ़ाना चाहिए।
  • नवरात्रि के पांचवे दिन देवी स्कंदमाता की पूजा की जाती है इसलिए इसदिन केले का भोग चढ़ाना चाहिए।

  • नवरात्रि के छठे दिन देवी कात्यायनी की पूजा की जाती है इसलिए इसदिन खीर व शहद का भोग चढ़ाना चाहिए।
  • नवरात्रि के सातवे दिन देवी कालरात्रि की पूजा की जाती है इसलिए इस दिन देवी को गुड़ से बनी चीजो का भोग चढ़ाना चाहिए।

  • नवरात्रि के आठवे दिन देवी महागौरी की पूजा की जाती है इसलिए इसदिन देवी गौरी को पूरी हलुआ व नारियल चढ़ाना चाहिए।
  • नवरात्रि के नौवे दिन देवी सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है इसलिए इसदिन देवी को को मिठाई और पंजीरी व पंचमेवा क भोग चढ़ाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here